सभी राज्यों में डिप्टी सीएम का पद मुस्लिमों के लिए आरक्षित होना चाहिए: AIMIM प्रवक्ता

हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल-मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के राष्ट्रीय प्रवक्ता असीम वकार ने कहा है कि सभी राज्यों में डिप्टी सीएम का पद मुस्लिमों के लिए आरक्षित होना चाहिए,. अंग्रेजी न्यूज़ चैनल टाइम्स नाउ से बात करते हुए AIMIM प्रवक्ता असीम वकार ने कहा, हिंदुस्तान में जितने राज्य हैं, जितनी पार्टियां है, उनमें मुसलमान नेता हैं, आज नहीं तो कल, पूरे हिंदुस्तान के सभी राज्य में, सभी पार्टियों को डिप्टी सीएम मुसलमान बनाना पड़ेगा।

आपको बता दें कि AIMIM प्रमुख और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने घोषणा की कि उनकी पार्टी 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में 100 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। ओवैसी ने यह भी कहा कि उनकी पार्टी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (एसबीएसपी) के संरक्षक ओम प्रकाश राजभर और उनके द्वारा गठित ‘भागीदारी संकल्प मोर्चा’ के साथ गठबंधन में चुनाव लड़ेगी।


एआईएमआईएम और एसबीएसपी के अलावा, भागीदारी संकल्प मोर्चा में आठ अन्य पार्टियां शामिल हैं, जैसे कृष्णा पटेल की अपना दल, जन अधिकार पार्टी और चंद्रशेखर रावण की आजाद समाज पार्टी।

AIMIM प्रवक्ता सैयद असीम वकार ने समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा, AIMIM के तमाम लोगों से मेरी गुजारिश है कि सपा के लोगों से पूछिए कि कहाँ है हमारा ( मुस्लिम आरक्षण ) आरक्षण, कौन सा आरक्षण दे रहे हैं आप ( अखिलेश यादव ), आपने वादा किया था, आपने आरक्षण क्यों नहीं दिया।

वकार ने कहा, मैं मीडिया के जरिये अखिलेश यादव से पूछ रहा हूँ, 2012 से 2017 तक जब आपकी सरकार थी तब आपने आरक्षण नहीं दिया। मैं यह जानना चाहता हूँ कि क्या ये जो नया घोषणापत्र आप जारी करने वाले हैं. उसमें आप मुसलामानों को आरक्षण देने का वादा करेंगे। वकार ने अखिलेश से पूछा है कि क्या आप मुसलामानों के आरक्षण के पक्ष में हैं, वकार ने कहा, ओवैसी साहब मुस्लिमों की नई आवाज हैं, मुस्लमान अब वोटबैंक नहीं है, हिस्सेदार हैं।