हर हाल में होनी चाहिए गौमाता की रक्षा, गौतस्करों को गोली भी मारना पड़े तो संकोच न करे पुलिस: हिमंता

जबसे हिमंता बिस्व सरमा ने असम के मुख्यमंत्री पद की कुर्सी संभाली है तबसे अपने कड़े फैसलों को लेकर चर्चा में हैं, अब हिमंता ने कहा है कि अगर अपराधी पुलिस कस्टडी से भागने की जुर्रत करे तो पुलिस गोली मार दे, यही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि गौरक्षा हमारी प्राथमिकता है, गौमाता को बचाने के लिए गौस्तस्करों पर कठोर से कठोर एक्शन लिया जाना चाहिए। अगर जरूरत पड़े तो पुलिस गौतस्करों को गोली मारने में भी संकोच न करे. सरमा ने सोमवार को राज्य के सभी पुलिस थानों के प्रभारी अधिकारियों (ओसी) को महिलाओं के खिलाफ अपराधों से सख्ती से निपटने और अपराधों तथा अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस निति अपनाने का निर्देश जारी किया। CM Himanta and Cow

असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्व सरमा ने कहा कि ‘गाय हमारी भगवान है। गाय हमें दूध देती है, गोबर देती है और ट्रैक्टर आने से पहले हमने मवेशियों की मदद से खेती की थी और यह कई हिस्सों में जारी भी है। अब लोग पशु तस्करी, नशीली दवाओं की तस्करी में भी शामिल हो गए हैं। लेकिन अब किसी को बख्शा नहीं जाना चाहिए, जो गौतस्करी करते दिखे उनके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाय. CM Himanta and Cow

उन्होंने थानों के प्रभारी अधिकारियों को विशेष रूप से कहा है कि वे अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए राजनीतिक दबाव या अन्य प्रलोभनों के आगे न झुकें पूरी ईमानदारी और समर्पण के साथ काम करें। इसके अलावा हिमंत बिस्वा सरमा ने जनता को सर्वोत्तम संभव सेवा देने पर भी जोर दिया। ताकि जनता को किसी भी प्रकार दिक्कत न हो सके. उन्होंने कहा कि अब से हर छह महीने में प्रभारी अधिकारियों (ओसी) के साथ एक सम्मेलन आयोजित किया जाएगा और इन सभी मोर्चों पर प्रगति की समीक्षा की जाएगी। CM Himanta and Cow

इंडिया टुडे के मुताबिक़, सीएम हिमंता ने कहा है कि सभी ओसी को उनके पुलिस थानों के लिए एक वाहन प्रदान किया जाएगा, जबकि उन पुलिस स्टेशनों के लिए मोटरसाइकिल प्रदान की जाएगी जो कठिन और दुर्गम क्षेत्रों में हैं। एफआईआर दर्ज करने और अन्य गतिविधियों को सुव्यवस्थित करने के लिए सभी पुलिस स्टेशनों को तीन कंप्यूटर उपलब्ध कराए जाएंगे। प्रत्येक पुलिस स्टेशन को एक बिजली जनरेटर प्रदान किया जाएगा।