केरल में बम्पर कोरोना विस्फोट, बकरीद पर पाबंदियों में दी गई ढील का दिखने लगा असर

कोरोना के प्रकोप के कारण उत्तराखण्ड, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों ने कांवड़ यात्रा पर प्रतिबन्ध लगा दिया, उसी दौरान केरल सरकार ने बकरीद पर पाबंदियों में ढ़ील देने का ऐलान किया है, जिसके अब गंभीर परिणाम दिखने लगे हैं, केरल ( Corona Update in Kerala ) में औसतन रोजाना 20 हजार नए कोरोना केस आ रहे हैं, केरल सरकार ने बकरीद मनानें के लिए 18, 19 और 20 जुलाई को लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील दी थी, केरल सरकार के इस फैसले का जमकर विरोध भी हुआ, लेकिन फैसला नहीं बदला था..

केरल में लगातार चौथे दिन 20,000 से अधिक कोरोना के नए मामलें ( Corona Update in Kerala ) दर्ज किये गए, केरल में अब कुल कोरोना मरीजों की संख्या 33,70,137 तक पहुँच गई है, अब तक कोरोना के कारण 16,702 लोगों की मौत हो चुकी है, केरल के कुछ जिले कोरोना से बुरी तरह प्रभावित हैं, इनमें मलप्पुरम (3670), कोझीकोड (2470), एर्नाकुलम (2306), त्रिशूर (2287), पलक्कड़ (2070), कोल्लम (1415), अलाप्पुझा (1214), कन्नूर (1123) हैं। तिरुवनंतपुरम (1082) और कोट्टायम (1030)। राज्य के विभिन्न जिलों में फिलहाल 4,56,951 लोग निगरानी में हैं। इनमें से 4,29,118 क्वारंटाइन हैं और 27,833 अस्पतालों में हैं।


आपको बता दें कि उत्तराखंड में औसतन रोजाना लगभग 50 कोरोना के केसेज आ रहे थे, लेकिन वहां की सरकार ने कोरोना का हवाला देते हुए कांवड़ यात्रा रद्द कर दी थी, वहीँ केरल ( Corona Update in Kerala ) में औसतन रोजाना 13 हजार कोरोना केस आ रहे थे, लेकिन वहां की सरकार ने बकरीद मनानें के लिए लॉकडाउन में ढ़ील देने का फैसला लिया था, जिसके अब गंभीर परिणाम सामनें आ रहे हैं.

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने शनिवार को कहा कि राज्य में जीका वायरस के लिए कई व्यक्तियों ने सकारात्मक परीक्षण किया, जिससे संक्रमण के कुल मामले 35 हो गए। इनमें से 11 सक्रिय मामले हैं और नए संक्रमणों में एक नाबालिग भी शामिल है। मंत्री ने कहा कि अब तक जीका के सभी मामले राज्य की राजधानी से सामने आए हैं।