बंगाल में कांग्रेस को लगा बड़ा झटका, पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के बेटे ने थामा TMC का दामन!

कांग्रेस पार्टी में भगदड़ जारी है, इसी कड़ी में अब पश्चिम बंगाल में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है, पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी ने कांग्रेस छोड़ सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ( टीएमसी ) का दामन थाम लिया। दिवंगत राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के बेटे अभिजीत मुखर्जी सोमवार को कोलकाता में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में शामिल हो गए। अभिजीत मुखर्जी पश्चिम बंगाल से कांग्रेस के पूर्व सांसद हैं।

जंगीपुर से कांग्रेस के पूर्व सांसद की पिछले कुछ हफ्तों से तृणमूल नेताओं के साथ बातचीत चल रही थी। पिछले महीने, अभिजीत मुखर्जी ने कोलकाता में टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी से मुलाकात की थी। अब आख़िरकार वह टीएमसी में शामिल हो ही गए.

अभिजीत मुखर्जी के पिता प्रणब मुखर्जी ने पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में जंगीपुर संसदीय क्षेत्र से दो बार कांग्रेस सांसद के रूप में जीत हासिल की, प्रणव के राष्ट्रपति बनने के बाद 2012 में यह सीट खाली हो गई, इंजीनियर से राजनेता बने अभिजीत मुखर्जी ने 2012 में अपने पिता के सीट खाली करने के बाद जंगीपुर संसदीय क्षेत्र से उपचुनाव जीते; और 2014 में आम चुनाव में फिर जीत दर्ज की. हालाँकि उन्होंने जून में कहा था कि वह जितिन प्रसाद की तरह कांग्रेस नहीं छोड़ेंगे, लेकिन उन्होंने छोड़ ही दिया।

जितिन प्रसाद पिछले साल ज्योतिरादित्य सिंधिया के जाने के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में जाने वाले दूसरे हाई-प्रोफाइल राहुल गांधी के सहयोगी हैं। मुखर्जी के जितिन प्रसाद के साथ अच्छे संबंध थे. ऐसी अटकलें हैं कि टीएमसी अभिजीत मुखर्जी को जंगीपुर विधानसभा सीट की पेशकश करेगी। इस सीट पर उपचुनाव होना है।