कैप्टन अमरिंदर और सोनिया गाँधी की मुलाक़ात ख़त्म, जानें क्या बातचीत हुई?

पंजाब में कांग्रेस के अंदर चल रही आंतरिक कलह के बीच आज पंजाब के मुख्यमंत्री ने दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाक़ात की, कांग्रेस नेतृत्व राज्य के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के साथ अमरिंदर सिंह के विवाद को सुलझाने और अंदरूनी कलह खत्म करने की कोशिश कर रहा है. सिद्धू ने पिछले हफ्ते दिल्ली में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से मुलाकात की थी। फिलहाल कैप्टन और सोनिया गांधी की मुलाक़ात ख़त्म हो चुकी है, मुलाक़ात के बाद बाहर निकलने कैप्टन मीडिया से भी मुखातिब हुए. Amarinder met Sonia Gandhi

मीडिया से बात करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा, मैं कांग्रेस अध्यक्ष से मिला, पार्टी के आतंरिक मामले और पंजाब के विकास पर उनसे बात हुई। जो फैसला कांग्रेस अध्यक्ष करेंगी, हम उस पर पूरा अमल करेंगे। पंजाब आगामी चुनाव के लिए तैयार है. सिद्धू को लेकर कैप्टन ने कहा, मैं सिद्धू साहब के बारे में कुछ नहीं जानता, मैंने अपनी सरकार के काम और राजनीतिक मुद्दों पर कांग्रेस अध्यक्ष से चर्चा की..Amarinder met Sonia Gandhi

कांग्रेस आलाकमान पंजाब इकाई में आंतरिक दरार को हल करने की कोशिश कर रहा है, कुछ अटकलें हैं कि सिद्धू को योजनाबद्ध सुधार में महत्वपूर्ण भूमिका मिल सकती है। 22 जून को, अमरिंदर सिंह राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय एआईसीसी पैनल के सामने पेश हुए, जिसे पंजाब कांग्रेस में अंदरूनी कलह को हल करने के लिए स्थापित किया गया था। Amarinder met Sonia Gandhi

पैनल ने तब अमरिंदर को 18 लंबित वादों को पूरा करने के लिए कहा था, पैनल ने पहले पार्टी के अन्य नेताओं से मुलाकात की थी और पार्टी आलाकमान को एक रिपोर्ट सौंपी थी। राहुल गांधी ने 2022 के विधानसभा चुनावों से पहले पार्टी को मजबूत करने के लिए क्या आवश्यक है, इसके लिए पंजाब के विधायकों सहित पार्टी के कई नेताओं से मुलाकात की है।

23 जून को, AICC महासचिव और पार्टी के पंजाब मामलों के प्रभारी हरीश रावत ने कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी जुलाई की शुरुआत तक राज्य इकाई से संबंधित सभी मुद्दों को हल कर लेंगी और पार्टी एकजुट होकर अगला विधानसभा चुनाव लड़ेगी।