मुख़्तार अंसारी पर योगी सरकार ने कसा शिकंजा, 24 करोड़ की अवैध सम्पत्ति जब्त

अपराधियों व् भूमाफियाओं के खिलाफ उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार का कड़ा प्रहार जारी है, इसी कड़ी में पुलिस ने माफिया मुख्तार अंसारी की 24 करोड़ रूपये की सम्पत्ति जब्त कर ली है, जेल में बंद मुख़्तार अंसारी की सम्पत्ति योगी सरकार ने गैंगस्टर अधिनियम के तहत जब्ती की…सम्पत्ति की जब्ती मऊ में की गई, मऊ जिला प्रशासन ने बुधवार को यहां माफिया डॉन और बसपा विधायक मुख्तार अंसारी के बेटों के नाम पर दर्ज 24 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की.

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन नाथ त्रिपाठी ने कहा, “मऊ पुलिस अंसारी गिरोह के खिलाफ सक्रियता काम कर रही है। मुख्तार के बेटे अब्बास अंसारी और उमर अंसारी के नाम दर्ज की गई दसर पोखरा के दक्षिण टोला में 8,880 वर्ग मीटर की संपत्ति को कुर्क किया गया है।” जिला प्रशासन ने संपत्ति की कीमत करीब 24 करोड़ रुपये आंकी है।

मुख्तार अंसारी की अब तक 50 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति कुर्क की जा चुकी है। गैंगस्टर अधिनियम की धारा 14 एक जिला मजिस्ट्रेट को किसी भी संपत्ति को कुर्क करने का अधिकार देती है, चाहे वह चल हो या अचल हो. मुख्तार अंसारी हत्या और जबरन वसूली सहित कई आपराधिक मामलों में गिरफ्तारी के बाद से बांदा जेल में बंद है। पहले पंजाब के रोपड़ जेल में बंद था.

हाल ही में अतीक अहमद के भाई गैंगस्टर और पूर्व विधायक अशरफ के खिलाफ प्रयागराज पुलिस और प्रशासन ने बड़ी कार्यवाही करते हुए 25 करोड़ की संपत्ति की कुर्क की जा चुकी है. धूमनगंज थाना पुलिस ने कसारी-मसारी में 5 बीघे में 12 भूखंडों को कुर्क किया और इसके बाद नोटिस बोर्ड लगा दिया. बता दें, इससे पहले भी अशरफ और अतीक की करोड़ों की संपत्ति कुर्क हो चुकी है.

अशरफ एक लाख रुपये का इनामी बदमाश था, जिसे को क्राइम ब्रांच ने धूमनगंज से गिरफ्तार किया था. फिलहाल वह बरेली जेल में बंद है और उसपर दर्ज गैंगस्टर के केसेस की जांच जारी है.