योगी सरकार की एक और बड़ी उपलब्धि, UP जल्द ही 5 अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डों वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा

5 International Airports UP

जल्द ही उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के नाम एक और ऐतिहासिक उपलब्धि जुड़ जायेगी, बहुत जल्द ही उत्तर प्रदेश पांच अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा। केंद्र सरकार के साथ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने राज्य की हवाई कनेक्टिविटी को मजबूत करने पर काफी जोर दिया है. अगले कुछ सालों में यूपी देश का इकलौता ऐसा राज्य बन जाएगा जहां 5 अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे होंगे। वर्तमान में लखनऊ (चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डा, अमौसी) और वाराणसी (लाल बहादुर शास्त्री हवाई अड्डा, बाबतपुर) में अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं। ( 5 International Airports UP )

आने वाले वर्षों में अयोध्या, कुशीनगर और नोएडा में तीन और अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे बनने जा रहे हैं। इनमें से कुशीनगर हवाईअड्डा सबसे पहले काम करेगा। डीजीसीए ने इसे अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का दर्जा दिया है। यहां से बहुत जल्द दुनिया के अलग-अलग देशों के लिए सीधी हवाई सेवा उपलब्ध होगी. केरल, गुजरात और महाराष्ट्र जैसे राज्य इस समय देश में हवाई सेवाओं के मामले में सबसे आगे हैं। जल्द ही यूपी इन सबको पीछे कर देगा। ( 5 International Airports UP )

योगी सरकार द्वारा नीति आयोग को प्रस्तुत योजना के अनुसार, हिंडन एयरपोर्ट से लखनऊ, वाराणसी, आगरा, गोरखपुर, कानपुर, प्रयागराज और गाजियाबाद के लिए हवाई सेवाएं संचालित की जा रही हैं. बरेली हवाईअड्डे से भी अगले 15 दिनों के भीतर हवाई सेवा शुरू कर दी जाएगी। कुशीनगर एयरपोर्ट पर काम चल रहा है। अयोध्या और नोएडा एयरपोर्ट से जुड़ा काम भी प्रगति पर है। ( 5 International Airports UP )

कुशीनगर में बनने वाला अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पूर्वांचल का दूसरा, यूपी का तीसरा और देश का 87वां लाइसेंस प्राप्त अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा होगा। इसका निर्माण योगी सरकार में बहुत तेज गति से किया गया है। इसमें से अधिकांश का काम पूरा हो चुका है। बहुत जल्द कुशीनगर हवाई अड्डे से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू होंगी।

गौतमबुद्धनगर के जेवर में ग्रीनफील्ड नोएडा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा बनाया जा रहा है. कुल 40.0919 हेक्टेयर भूमि पर बनने वाले इस अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे में 5 रनवे होंगे। स्विस कंपनी ज्यूरिख एयरपोर्ट इंटरनेशनल एजी इसका निर्माण करेगी। क्षेत्रफल के हिसाब से यह एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा।

अयोध्या में ‘मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा’ योगी सरकार की एक महत्वाकांक्षी परियोजना है। राम मंदिर निर्माण की शुरुआत के साथ ही अयोध्या में कई विकास परियोजनाओं की शुरुआत हुई है। देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों की सुविधा को देखते हुए यहां श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट का काम तेजी से चल रहा है। एयरपोर्ट के लिए 555.66 एकड़ जमीन का अधिग्रहण किया जा रहा है। लगभग 75 प्रतिशत भूमि का अधिग्रहण किया जा चुका है।