शॉर्प शूटर मोहम्मद परवेज को यूपी STF ने एनकाउंटर में किया ढेर, इसके सर पर था 1 लाख का ईनाम

image credit - social media

उत्तर प्रदेश स्पेशल टॉस्क फ़ोर्स ( एसटीएफ ) की टीम ने शॉर्प शूटर परवेज अहमद को एनकाउंटर में ढ़ेर कर दिया है, परवेज पर एक लाख रूपये का ईनाम रखा गया था, यूपी एसटीएफ ने गोरखपुर में काम तमाम किया। परवेज, छोटा राजन और खान मुबारक का राइट हैंड माना जाता था। उसे नकली करेंसी के कारोबार का बादशाह भी कहते थे, परवेज नेपाल से पूरे यूपी में वसूली का सिंडिकेट चलाता था।

शॉर्प शूटर परवेज अहमद दो साल पहले हुई एक बसपा नेता की हत्या में भी था, नेपाल से अपनी गैंग चलाता था, एसटीएफ की गोरखपुर इकाई के डीएसपी धर्मेश कुमार शाही ने कहा कि शार्पशूटर परवेज अहमद बसपा नेता जुगाराम मेहंदी की हत्या कर नेपाल भाग गया था और पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था।

परवेज अहमद अहमद गोरखपुर क्षेत्र के पिपीगंज के सरहराई रोड पर एक मुठभेड़ में मारा गया था, जहां उसे अपने एक सहयोगी के साथ मोटरसाइकिल पर देखा गया था। अंबेडकर नगर जिले के मखदूमनगर का रहने वाला अहमद अंडरवर्ल्ड डॉन खान मुबारक का करीबी भी था.

एसटीएफ को गुप्त सूचना मिली थी कि वह किसी से मिलने नेपाल से गोरखपुर आया था, सूचना मिलने के बाद गोरखपुर के चिलुआताल इलाके में पुलिस ने उसे घेर लिया. पुलिस ने सरेंडर करने के लिए कहा, लेकिन उसने सरेंडर करने के बजाय पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी। इसके बाद जवाबी कार्यवाही में परवेज अहमद का काम तमाम हो गया, शॉर्प शूटर अहमद के कब्जे से पुलिस ने एक .32 MM पिस्तौल, एक 9 MM पिस्तौल और 500 रुपये बरामद किए। अहमद मखदूमनगर में कई हत्याओं में वांछित अपराधी था।

image tweeted @anshpatrkaar

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, परवेज अहमद खान मुबारक का शॉर्प शूटर था, उसी के इशारे पर वह वारदातों को अंजाम देकर फरार हो जाता था, खान मुबारक फिलहाल यूपी की हरदोई जेल में बंद है.