टिकरी बॉर्डर पर किसान आंदोलन में गैंगरेप केस: पुलिस ने मुख्य आरोपी को किया गिरफ्तार

image credit - india today

टीकरी बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में बंगाल की युवती के साथ हुए दुष्कर्म Tikri Border farmer protest मामलें में पुलिस ने मुख्य आरोपी अनिल मलिक को गिरफ्तार कर लिया है, मामलें की जांच कर रही एसआईटी ने मुख्य आरोपी अनिल मलिक को भिवानी से बुधवार को गिरफ्तार कर लिया. अनिल मलिक पर पुलिस ने इनाम घोषित किया था. दो अन्य आरोपी अनूप चनौत और अंकुर सांगवान अभी भी पुलिस गिरफ्त से बाहर है. मालूम हो कि युवती किसान आंदोलन में भाग लेने पश्चिम बंगाल से आई थी. दुष्कर्म Tikri Border farmer protest के बाद कोरोना संक्रमण की वजह से उसकी मौत हो गई थी. पीड़िता के पिता ने दो महिलाओं समेत 6 लोगों पर मामला दर्ज करवाया था.

पश्चिम बंगाल से किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल होने टीकरी बॉर्डर पर आई एक 25 वर्षीय महिला के साथ कथित तौर पर दुष्कर्म का एक मामला सामने आया है. उस महिला की बाद में कोविड-19 के लक्षणों के कारण बाद में अस्पताल में मौत हो गई थी. Tikri Border farmer protest

महिला के पिता ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कराई है. युवती के साथ रेप सहित अन्य धाराओं में 6 लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है। आरोपित किसान सोशल आर्मी से जुड़े थे। आरोपितों में अनिल मलिक, अनूप सिंह, अंकुश सांगवान, जगदीश बराड़, कविता आर्य और योगिता सुहाग शामिल हैं।आरोपितों में शामिल अनूप सिंह चानौत ‘आम आदमी पार्टी’ का नेता बताया जा रहा है, आप मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के साथ उसकी तस्वीर भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक़, 25 साल की महिला महिला 10 अप्रैल को एक किसान संगठन के साथ बंगाल से टीकरी बॉर्डर आई थी, ताकि तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन किया जा सके. महिला को झज्जर जिले के एक अस्पताल में 26 अप्रैल को कोविड के लक्षणों के बाद भर्ती कराया गया था, लेकिन 30 अप्रैल को उसकी मौत हो गई. आठ दिन बाद उसके पिता ने दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है. जांच के लिए डीएसपी के नेतृत्व में एक एसआईटी गठित की गई है।