सुल्तान अंसारी और रविमोहन तिवारी ने गजब का दिमाग लगाकर चंद मिनट में कमा लिए 16.5 करोड़ रूपये

सुल्तान अंसारी और रविमोहन तिवारी ने मात्र कुछ ही मिनटों के अंदर करोड़ों रूपये कमा लिए. खुलासा होने के बाद ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट’ पर घोटाले ( land scam in ayodhya ) का आरोप लग रहा है, क्यूंकि मामला ट्रस्ट से जुड़ा है, आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने आरोप ने लगाया है कि ‘अयोध्या में 5 करोड़ 80 लाख की मालियत की कुसुम पाठक और हरीश पाठक की जमीन सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी ने खरीदी. इस जमीन खरीदी के गवाह अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय और ट्रस्ट के एक सदस्य अनिल मिश्र बने.

संजय सिंह ने कहा कि 5 करोड़ 80 लाख की जमीन को मात्र 2 करोड़ में खरीदी गई. आप संसद संजय सिंह ने आरोप लगाया कि इसके बाद उस जमीन को चम्पत राय ने तुरन्त राम मंदिर ट्रस्ट के नाम पर 18.50 करोड़ में सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी से खरीद ली. जिसके बाद अनिल मिश्रा और ऋषिकेश उपाध्याय फिर से खरीदी के गवाह बनाए गए. ( land scam in ayodhya )


अब सवाल यह उठता है कि क्या सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी ने गवाहों के साथ मिलकर ट्रस्ट के महासचिव चम्पत राय के साथ धोखा किया? हो सकता है चम्पत राय को उनके इस खेल के बारें में जानकारी न रही हो और उन्होंने जमीन 18.50 करोड़ में खरीद ली हो. ( land scam in ayodhya )

वहीँ इस पूरे मामलें पर प्रेस-विज्ञप्ति जारी करके ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट’ के महासचिव चम्पत राय ने संजय सिंह के आरोपों को राजनीति से प्रेरित बताया है, चंपत राय ने एक विज्ञप्ति में कहा कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने अब तक जितनी जमीन खरीदी है, वह बाजार भाव से काफी कम कीमत पर खरीदी गई है. राय ने रविवार को विज्ञप्ति में कहा, “कुछ राजनीतिक नेता लोगों को गुमराह कर रहे हैं। यह समाज को गुमराह करने के लिए है, संबंधित लोग राजनीतिक हैं और इसलिए राजनीतिक नफरत से प्रेरित हैं।