अमरिंदर की हुई घनघोर बेइज्जती, सोनिया गांधी ने मिलने से किया इनकार, 2 दिन से दिल्ली में करते रहे इंतजार

राजस्थान के बाद अब पंजाब में कांग्रेस पार्टी के अंदर आंतरिक कलह चल रही है, सीएम कैप्टन को लेकर कांग्रेस आलाकमान कडा रुख अख्तियार कर रहा है, एबीपी न्यूज़ ने सूत्रों के हवाले से जानकारी दी है कि कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कैप्टन अमरिंदर सिंह से मिलने से इनकार कर दिया, दो दिन दिल्ली में रहने के बाद अमरिंदर अब वापस चंडीगढ़ जा चुके हैं..अमरिंदर सिंह की कोशिश थी कि वह सोनिया गांधी ( Sonia Gandhi Amarinder Singh ) से मिलकर पूरे घटनाक्रम पर विस्तार से बातचीत करें और बताएं कि आख़िरकार पंजाब में पार्टी के अन्दर चल क्या रहा है…लेकिन सोनिया गांधी ने अमरिंदर को मिलने के लिए टाइम नहीं दिया।

पंजाब में कांग्रेस के अंदर चल रही कलह को सुलझाने के लिए बनाई कमेटी के सामने कल दिल्ली में अमरिंदर सिंह पेश हुए थे, उसके बाद वह सोनिया से मुलाक़ात करने की कोशिश में थे, लेकिन सोनिया ने समय ही नहीं दिया। इससे पहले कांग्रेस आलाकमान ने सचिन पायलट से मिलने से इनकार कर दिया।पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मंगलवार, 22 जून को पंजाब की कलह को सुलझाने के लिए गठित की गई तीन सदस्यीय कांग्रेस पैनल से मुलाकात की और पार्टी के भीतर अपने प्रतिद्वंद्वी नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा दिए गए हालिया बयानों के खिलाफ अपना विरोध दर्ज कराया। ( Sonia Gandhi Amarinder Singh )

कहा जा रहा है कि पैनल ने कांग्रेस के दो नेताओं के बेटों को सरकारी नौकरी देने के अपने फैसले पर पंजाब के सीएम से स्पष्टीकरण मांगा है। पैनल के साथ कैप्टन की बैठक लगभग तीन घंटे तक चली, इस बैठक में राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे, पंजाब के कांग्रेस प्रभारी हरीश रावत और वरिष्ठ नेता जेपी अग्रवाल शामिल हैं. ये बैठकें तब हो रही हैं जब तीन सदस्यीय पैनल पहले ही अधिकांश सांसदों और विधायकों से मिल चुका है और राहुल गांधी ने भी उनमें से कुछ से बात की है। ( Sonia Gandhi Amarinder Singh )