जम्मू-कश्मीर में खतरे में पड़ी सिखों की बेटियां, जबरन कराया जा रहा निकाह, DSGMC ने किया प्रदर्शन

जम्मू-कश्मीर में सिखों की बेटियां खतरे में पड़ गई हैं, मुस्लिम समुदाय के लोग सिख बेटियों का अपहरण करके जबरन निकाह करवा रहे हैं, मुस्लिमों के इस कुकृत्य से सिखों में काफी आक्रोश है, Delhi Sikh Gurdwara Management Committee ( DSGMC ) के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा ने आज श्रीनगर में हजारों सिखों के साथ विरोध प्रदर्शन किया और न्याय की मांग की. मिली जानकारी के मुताबिक़, कश्मीर से दो सिख लड़कियों का कथित तौर पर अपहरण कर लिया गया है और उनका धर्मनान्तरण करके इस्लाम कबूल करवा दिया गया, इनमें से एक लड़की का निकाह मुस्लिम से कर दी गई जो अभी भी लापता है। ( Sikh girls muslim conversion )

बडगाम जिले की एक 18 वर्षीय सिख लड़की को बहला-फुसलाकर जबरन इस्लाम में परिवर्तित कर दिया गया। शिरोमणि अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा और शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने सोशल मीडिया पर इस मुद्दे को उठाया है और जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया है। एक अन्य मामला श्रीनगर के महजूर नगर का है.. ( Sikh girls muslim conversion )

सिखों के साथ श्रीनगर में प्रदर्शन में शामिल हुए अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा, ये लव जिहाद है, ये उन लोगों यानि सिख समुदाय के साथ हो रहा है, जिन्होनें CAA प्रोटेस्ट के दौरान जो कश्मीरी मुस्लिम लड़कियां फंसी थी उनको टिकटें देकर पहुंचवाया। और आज मौलाना-मुफ़्ती क्यों चुप हैं, सिरसा ने कहा, मौलाना-मुफ्तियों को शर्म नहीं आई निकाह पढ़ते। नौजवान बच्चियों की 10 बच्चों के बाप से निकाह करते हुए. सिरसा ने केंद्र सरकार से आग्रह करते हुए कहा, इन लोगों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्यवाही की जाय. ( Sikh girls muslim conversion )

सिरसा ने कहा, हमारी दो बच्चियों को गनपॉइंट पर अगवा किया गया और उनका निकाह पढ़ा गया, 50-50 साल के आदमी के साथ पढ़ा गया, उन्होंने कहा, कोर्ट के अंदर बच्चियों के माँ-बाप को जानें नहीं दिया गया. हमारे नौजवानों ने जब जबरन वहां प्रोटेस्ट शुरू किया तब रात को साढ़े 10 बजे एक बेटी कोर्ट से निकालकर हमारे हवाले की गई. दूसरी बेटी को अभी भी हमारे पास नहीं दिया गया.