मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए शरद पवार कर रहे नया मोर्चा बनानें की तैयारी, कॉंग्रेस बाहर रहेगी

पिछले यानि 2019 लोकसभा चुनाव में मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए सभी विपक्षी पार्टियां एकजुट हो गई थी, महागठबंधन करके मैदान में उत्तरी थी लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी और प्रचंड बहुमत से दोबारा केंद्र में भजापा-एनडीए की सरकार बनी और नरेंद्र मोदी लगातार दूसरी बार प्रधानमंत्री। अब लोकसभा चुनाव 2024 में होगा, उससे पहले विपक्ष के कुछ नेता रणनीति बनाने लगे हैं कि आखिर मोदी सरकार को कैसे उखाड़ फेंका जाय, खबर है कि मोदी सरकार के खिलाफ एनसीपी प्रमुख शरद पवार नया मोर्चा बना सकते हैं, हालाँकि अभी इसकी कोई पुष्टि नहीं हुई, तैयारी जारी है, कहा जा रहा है कि अगर कोई तीसरा मोर्चा बना तो कांग्रेस इससे बाहर रहेगी। ( sharad pawar new alliance )

खबर है कि शरद पवार जल्द ही कई दलों के नेताओं की बैठक की मेजबानी करेंगे। यह बैठक देश में वर्तमान परिदृश्य पर चर्चा करने के लिए बुलाई गई है इसमें नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता और जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, टीएमसी नेता यशवंत सिन्हा, आप से संजय सिंह और भाकपा के डी राजा शामिल होंगे। बैठक में संजय झा, पवन वर्मा और सुधींद्र कुलकर्णी भी मौजूद रहेंगे. ( sharad pawar new alliance )

यह पहली बार है जब पवार बैठक की मेजबानी करेंगे। उनका यह फैसला ऐसे समय में आया है जब वह दो सप्ताह में दूसरी बार चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से मिले। खबर की पुष्टि करते हुए, यशवंत सिन्हा ने ट्वीट कर कहा कि पवार ‘राष्ट्र मंच’ की एक बैठक की मेजबानी कर रहे हैं..( sharad pawar new alliance )

नेताओं के अलावा शरद पवार द्वारा बुलाई गई बैठक में वरिष्ठ अधिवक्ता केटीएस तुलसी, पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एसवाई कुरैशी, पूर्व राजदूत केसी सिंह, गीतकार जावेद अख्तर, फिल्म निर्माता प्रीतिश नंदी, अधिवक्ता कॉलिन गोंजाल्विस, फिल्मकार प्रीतिश नंदी और मीडिया हस्तियों जैसे करण थापर और आशुतोष भी शामिल होंगे।

एक पत्रकार ने विश्वस्त सूत्रों के जरिए दावा किया है कि ”राष्ट्र मंच’ के बैनर तले कांग्रेस छोड़ सारे विपक्षी एक साथ आ सकते हैं, ममता बनर्जी इस तीसरे मोर्चे का चेहरा होंगी, शरद पवार संयोजक बन सकते हैं.