भाजपा छोड़ TMC में गए मुकुल रॉय तो भड़के भाजपा सांसद सौमित्र खान, कहा- वो एक मीर जाफ़र है!

बंगाल के भाजपा नेता मुकुल रॉय ने घर वापसी कर ली है, आज मुकुल रॉय तृणमूल कांग्रेस ( टीएमसी ) में शामिल हो गए, कभी टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के करीबी रहे मुकुल रॉय 2017 में धूमधाम से भाजपा में शामिल हुए थे, अब अपने बेटे सुभ्रांशु रॉय के साथ तृणमूल कांग्रेस में वापसी कर गए, टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी की अगुवाई में मुकुल रॉय ने अपने बेटे के साथ टीएमसी का दामन थामा। मुकुल रॉय के भाजपा छोड़ने के बाद भाजपा सांसद सौमित्र खान ने उन्हें मीरजाफर करार दिया है.

ममता के भतीजे व् टीएमसी विधायक अभिषेक बनर्जी ने मुकुल रॉय और उनके बेटे सुभ्रांशु रॉय को शाल पहनाकर पार्टी में स्वागत किया। रॉय ने कहा, “मैं फिर से भारतीय जनता पार्टी के लिए काम नहीं करूंगा।

पश्चिम बंगाल के विष्णुपुर से भाजपा सांसद सौमित्र खान ने कहा, ईस्ट इंडिया कंपनी भारत में प्रवेश करने के लिए एक मीर जाफ़र रखी थी, इतिहास में मीर जाफ़र होता है जो पूरी जाति को, पूरी देश को खत्म कर देता है। मुकुल रॉय एक मीर जाफ़र है. खान ने कहा, अच्छा हुआ वो चले गए, हम भाजपा के सिपाही हैं और रहेंगे। कोई भी देशद्रोही हमारे लड़ने के जज्बे को नहीं तोड़ सकता।

मुकुल रॉय की टीएमसी में वापसी के बाद बनर्जी ने कहा कि भाजपा ने मुकुल रॉय को डराकर पार्टी में शामिल कराया। उन्होंने कहा, “मुकुल घर लौट आया है। वह भाजपा में शामिल होने से डर रहा था। मुझे भी लगा कि उसकी तबीयत बिगड़ रही है और अब वह तृणमूल कांग्रेस में लौटने के बाद मानसिक रूप से सही है. मुकुल रॉय उन नेताओं में से थे जिन्होंने टीएमसी की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

भाजपा के बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष ने मुकुल रॉय की टीएमसी में वापसी पर कहा, “जिनके पास भाजपा के विकास में योगदान करने के लिए कुछ भी नहीं है, वे छोड़ने के लिए स्वतंत्र हैं।”