हिन्दू धर्म को कमजोर कहने वाले सिरसा को संबित पात्रा ने कहा कुछ ऐसा कि सिकुड़ गया सिरसा का मुंह!

भारत में धर्मांतरण विरोधी कानूनों के लिए हिंदू धर्म को “कमजोर धर्म” बता कर मजाक उड़ाने वाले अकाली दल के नेता मनजिंदर सिरसा अब सिख बच्चियों को जबरन धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम बनने से बचाने के लिए वही कानून चाहते हैं..इसके लिए उन्होंने मोदी-शाह से गुहार लगाई है, दरअसल जब उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने लव जिहाद के विरुद्ध कानून बनाया तो Manjinder Singh Sirsa ने हिन्दू धर्म को कमजोर बताते हुए कहा था कि ‘आपका धर्म इतना कमजोर क्यों है, ऐसा धर्म ही क्यों है जिसे कानून का सहारा लेकर बचाना पड़े. सिरसा ने कहा, ऐसा धर्म होना ही पाप है. अब जब बात अपने पर आई तो मनजिंदर सिरसा की अक्ल ठिकानें आ गई है. (Sikh girls Conversion Kashmir )

आजतक न्यूज़ चैनल पर लाइव डिबेट में मनजिंदर सिंह सिरसा को न्याय का आस्वाशन देते हुए भाजपा के राष्ट्रीय संबित पात्रा ने कहा, सिरसा जी आपका एक वीडियो सोशल मीडिया पर चल रहा है, जब इसी प्रकार का लव जिहाद, धर्मांतरण हिन्दू बेटियों के साथ हुआ था तो आपने एक बयान दिया था कि वो धर्म कमजोर आते हैं, जो कानून और पुलिस की सहायता लेते हैं. (Sikh girls Conversion Kashmir )


संबित पात्रा ने कहा, सिरसा साहब कोई धर्म कमजोर नहीं होता, लेकिन हमें कभी भी सेलेक्टिव नहीं होना चाहिए। बच्ची चाहे हिन्दू हो, बौद्ध हो या सिख हो, हम सबको मिलकर अपनी बच्चियों की सुरक्षा के लिए दिन-रात मेहनत करना चाहिए। संबित पात्रा ने सिरसा को आस्वाशन दिया कि इस विषय को हमारी पार्टी के नेताओं ने गंभीरता से लिया है, सिख बच्चियों को न्याय अवश्य मिलेगा, इसमें कोई दो राय नहीं। (Sikh girls Conversion Kashmir )

जानकारी के अनुसार, हाल ही में कश्मीर में कई सिख बेटियों का अपहरण हुआ और उन्हें जबरन इस्लाम कबूल करवा के निकाह करवा दिया गया, मुस्लिमों के इस कुकृत्य से सिखों में काफी आक्रोश है, बडगाम जिले की एक 18 वर्षीय सिख लड़की को बहला-फुसलाकर जबरन इस्लाम में परिवर्तित कर दिया गया। एक अन्य मामला श्रीनगर के महजूर नगर का है..

अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने कहा, ये लव जिहाद है, ये उन लोगों यानि सिख समुदाय के साथ हो रहा है, जिन्होनें CAA प्रोटेस्ट के दौरान जो कश्मीरी मुस्लिम लड़कियां फंसी थी उनको टिकटें देकर पहुंचवाया। और आज मौलाना-मुफ़्ती क्यों चुप हैं, सिरसा ने कहा, मौलाना-मुफ्तियों को शर्म नहीं आई निकाह पढ़ते। सिरसा ने केंद्र सरकार से आग्रह करते हुए कहा, इन लोगों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्यवाही की जाय. यही नहीं सिरसा ने केंद्र सरकार से अपील की कि जिस तरह से उत्तर प्रदेश में धर्मांतरण विरोधी कानून है, उसी कानून को तुरंत लागू किया जाय.और हमारी चार बच्चियां पिछले एक महीनें में अगवा करके गनपॉइंट पे उनका निकाह किया गया है, धर्म परिवर्तन किया गया है, उन्हें हमको वापस दिया जाय.