सुप्रीम कोर्ट की रिपोर्ट आने के बाद संबित पात्रा ने बोला केजरीवाल पर हमला, बच सकती थी कई लोगों की जान

सुबह-सुबह मीडिया में खबर आई कि दिल्ली में ऑक्सीजन संकट को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने ऑक्सीजन ऑडिट के लिए एक पैनल गठित किया था, अब इस पैनल ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है, इस रिपोर्ट के मुताबिक़, दिल्ली सरकार ने जरूरत से चार गुना ज्यादा ऑक्सीजन की मांग की. जिसकी वजह से अन्य राज्यों में ऑक्सीजन की सप्लाई पर असर पड़ा, इसके परिणाम भयानक निकले। सुप्रीम कोर्ट की रिपोर्ट आने के बाद भाजपा ने केजरीवाल सरकार पर हमला बोला है…kejriwal Oxygen Supreme Court

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ संबित पात्रा ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके कहा, दिल्ली सरकार द्वारा 4 गुना ज्यादा ऑक्सीजन की जरूरत बताई गई, जिससे ऑक्सीजन टैंकर सड़क पर खड़े रहे। अगर ये ऑक्सीजन दूसरे राज्यों में उपयोग होती तो कई लोगों की जान बच सकती थी। ये अरविंद केजरीवाल जी द्वारा किया गया जघन्य अपराध है। kejriwal Oxygen Supreme Court

संबित पात्रा ने कहा, दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन के कारण कई लोगों ने अपनी जान गंवाई, इसके लिए अरविंद केजरिवाल जी जिम्मेदार हैं। हम आशा करते हैं सर्वोच्च न्यायालय में वो जिम्मेदार ठहराए जाएंगे और जो अपराध उन्होंने किया है, उसके लिए उन्हें दंडित किया जाएगा। kejriwal Oxygen Supreme Court

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित पैनल ने कहा है कि ‘कोरोना की दूसरी लहर में जब दिल्ली सरकार द्वारा 1200 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की मांग का शोर मचाया जा रहा था. तब दिल्ली को सिर्फ 300 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत थी. दिल्ली सरकार की इसी मांग के कारण करीब 12 राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत पैदा हुई थी, क्योंकि तब की जा रही मांग के मुताबिक ऑक्सीजन की अतिरिक्त सप्लाई दिल्ली में की जा रही थी. supreme court Oxygen delhi

एबीपी न्यूज़ के मुताबिक़, 8 मई को सुप्रीम कोर्ट ने देश में ऑक्सीजन वितरण व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए 12 सदस्यीय टास्क फोर्स बनाया था. दिल्ली के लिए अलग से एक सब-ग्रुप बनाया गया था. इसमें एम्स के निदेशक रणदीप गुलेरिया, मैक्स हेल्थकेयर के संदीप बुद्धिराजा के साथ केंद्र और दिल्ली के 1-1 वरिष्ठ आईएएस अधिकारी हैं. इसी कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि केजरीवाल ने जरूरत से चार गुना ज्यादा आक्सीजन की मांग की, जिसके कारण करीब 12 राज्यों में ऑक्सीजन की किल्लत पैदा हुई थी.