ऑस्ट्रेलिया की जेल में बंद हरियाणवी युवक की रिहाई के प्रयास तेज, CM खटटर ने की विदेश मंत्री से बात

released vishal jood
released vishal jood

ऑस्ट्रेलिया की जेल में बंद हरियाणवी युवक विशाल जूड की रिहाई ( Release Vishal jood ) के लिए अब प्रयास तेज हो गए है, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर ने भी मामलें का संज्ञान लेते हुए विदेश मंत्री एस जयशंकर से अपील की है कि जल्द से जल्द विशाल की रिहाई ( Release Vishal jood ) सुनिश्चित की जाय, विदेश मंत्री ने ऑस्ट्रेलियन एंबेसी को भारत की चिंता से अवगत कराया है। हरियाणा के कुरुक्षेत्र के रहने वाले विशाल जूड ऑस्ट्रेलिया में खालिस्तानियों का शिकार हो गए हैं और वह लगभग तीन महीनें से सिडनी की जेल में बंद हैं.

DPR हरियाणा के ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक़, ऑस्ट्रेलिया की जेल में बंद हरियाणवी युवक विशाल जूड की तत्काल रिहाई ( Release Vishal jood ) के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने विदेश मंत्री श्री एस.जयशंकर से बात की और मामले में तत्काल हस्तक्षेप करने की अपील की। विदेश मंत्री ने ऑस्ट्रेलियन एंबेसी को भारत की चिंता से अवगत कराया है।

विदेश मंत्री ने मुख्यमंत्री को विश्वास दिलाया कि विशाल जूड बहुत जल्द ऑस्ट्रेलिया की जेल से रिहा हो जाएगा। ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में तिरंगे के सम्मान के लिए हरियाणा के युवा विशाल जूड ने देश विरोधी ताकतों से डटकर लड़ाई लड़ी और तिरंगे का अपमान नहीं होने दिया। विशाल के समर्थन में ऑस्ट्रेलिया में काफी प्रदर्शन भी हो रहे हैं। विशाल के समर्थकों का दावा है कि देश विरोधी कुछ ताकतों ने विशाल जूड से मारपीट की और बाद में आस्ट्रेलिया सरकार से मिलकर झूठे केस में फंसाकर जेल भिजवा दिया था।

मिली जानकारी के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया में जब किसानो के समर्थन में विरोध प्रदर्शन हो रहा था तो उस वक्त उस प्रदर्शन मे कुछ खालिस्तानी भारत को भी भला-बुरा कहने लगे, इसके बाद वहां मौजूद विशाल से यह सब सहन नहीं हुआ और उन्होंने सैकड़ों खालिस्तानियों के बीच तिरंगा लहरा दिया। इससे ख़ार खाये खालिस्तानियों ने न सिर्फ विशाल के साथ हाथापाई की बल्कि अपनी ताकत का लाभ उठाते हुए विशाल को झूठे मुकदमें में फंसवाकर जेल में डलवा दिया। विशाल पिछले तीन महीनों से सिडनी की जेल में बंद हैं, जानकारी मिल रही है कि जेल में उनके साथ बेइंतिहा जुल्म हो रहा है.

सोशल मीडिया पर लोग भारत सरकार से अपील कर रहे हैं कि विशाल को छुड़ाकर ( Release Vishal jood )  भारत लाया जाय, सैकड़ों खालिस्तानियों के बीच तिरंगा लहराना इस बात का प्रमाण है कि विशाल जूड एक देशभक्त नागरिक हैं, जिन्होनें अपनी जान की परवाह किए बिने खालिस्तानियों से लोहा ले लिया, वो भी अपने देश से बाहर। ‘बेस्ट हिंदी न्यूज़’ की भी भारत सरकार से यह अपील है कि वह आस्ट्रेलिया में विशाल का पक्ष रखे, हरसंभव मदद करे.