डासना मंदिर में चोर आसिफ की पिटाई पर हंगामा, पानी पीने गई बच्ची से Mosque में हुआ रेप तो छाया सन्नाटा

कुछ महीनों पहले गाजियाबाद के डासना में स्थित ‘डासना देवी मंदिर’ में चोरी करने के इरादे से घुसे मुस्लिम युवक को मंदिर के एक व्यक्ति ने दो थप्पड़ मार दिए तो पूरे देश में हंगामा मच गया, कल दिल्ली में एक 10 साल की बच्ची मस्जिद में पानी पीने गई, आरोप है कि मौलवी ने मस्जिद में मासूम बच्ची के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया, इस मामलें पर पूरे देश में सन्नाटा छाया हुआ है, सभी मौन हैं?

दिल्ली पुलिस ने एक 48 वर्षीय मौलाना को गिरफ्तार किया है, 48 वर्षीय मौलाना मोहम्मद इलियास पर 10 वर्ष की नाबालिग बच्ची के साथ बलात्कार करने का आरोप है, मामला उत्तर-पूर्वी दिल्ली की एक मस्जिद का है, न्यू इंडियन एक्सप्रेस में छपी खबर के मुताबिक़, घर लौटने के बाद नाबालिग ने अपने माता-माता को आपबीती बताई, जिसके बाद बच्ची के परिजनों ने रविवार रात पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने कहा कि शिकायत में, लड़की के माता-पिता ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी पानी लेने मस्जिद गई थी, जब मौलवी ने उसके साथ रेप किया। बच्ची को न्याय दिलानें के बजाय कट्टरपंथी चुप्पी साधे बैठे हैं.

याद कीजिये जब इसी साल मार्च महीनें में सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, आरोप था कि मंदिर में पानी पीने को लेकर मुस्लिम सख्श आसिफ की पिटाई हुई, वीडियो वायरल होने पर पुलिस ने आरोपित को 13 मार्च की रात गिरफ्तार कर लिया था। ये था घटना का एक पहलू जिसे लेकर बवाल मचा है, इस घटना का दूसरा पहलू भी है, जी हाँ! जिसे सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे।

दिल्ली में रेप पर खामोशी

वायरल वीडियो उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के डासना इलाके स्थित एक देवी मंदिर का बताया गया। इसके बाद से लिबरल और वामपंथी गिरोह हिंदुओं को उत्पीड़क और मुस्लिमों को पीड़ित के तौर पर पेश करने पर जुटे थे।

देवी मंदिर के पुजारी ने घटना का एक अलग ही पहलू सामने रखा है। एक मीडिया संस्थान के साथ बातचीत में पुजारी ने कहा कि मुस्लिम बच्चे को गलत तरीके से पीड़ित के तौर पर दिखाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आसिफ मंदिर में पानी पीने नहीं आया था। ये लोग मंदिर में आकर हिंदू लड़कियों से छेड़खानी करते हैं और मूल्यवान चीजें चोरी कर लेते हैं। इस मामलें पर लिब्रान्डुओं ने जमकर बवाल किया था.