किसान आंदोलन में युवती से हुआ रेप, राकेश टिकैत बोले- मुझे तो पता ही नहीं?

Rakesh tikait and Tikri
Rakesh tikait and Tikri border

टीकरी बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में बंगाल की युवती के साथ कुछ दिनों पहले दुष्कर्म हुआ था, इस मामलें में कई किसान नेताओं समेत 6 लोगों पर एफआईआर भी दर्ज हुई थी, इस घटना को लगभग एक महीनें बीत चुके हैं, परन्तु किसान नेता राकेश टिकैत ( Rakesh tikait on Tikri Border ) इससे अनभिज्ञ हैं, टिकैत ने कहा, महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार की घटना हमारे संज्ञान में नहीं आई है। अभी ये मामला ठंडा भी नहीं हुआ था कि आंदोलन स्थल पर कथित तौर पर एक 42 वर्षीय व्यक्ति को ज़िंदा जला दिया गया.

इस घटना के बाद हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खटटर ने कहा कि ‘किसान आंदोलन अगर शांति के साथ चलता रहे तो हमें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन इसमें जो हिंसात्मक और अनैतिक गतिविधियां होने लग गई हैं, यह बुहत चिंता का विषय है। आंदोलन स्थल महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार करने का अड्डा बन गया है’ ( Rakesh tikait on Tikri Border )


खटटर पर पलटवार करते हुए भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, किसान शांतिपूर्ण आंदोलन कर रहे हैं। हमारा आंदोलन शांतिपूर्ण तरीके का है। महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार की घटना हमारे संज्ञान में नहीं आई है। अगर किसी के साथ हुआ है तो सरकार हमें बताएं। हम जांच करेंगे और कार्रवाई करेंगे ( Rakesh tikait on Tikri Border )

आपको बता दें कि पश्चिम बंगाल से किसानों के विरोध प्रदर्शन में शामिल होने टीकरी बॉर्डर पर आई एक 25 वर्षीय महिला के साथ कथित तौर पर दुष्कर्म का एक मामला सामने आया था, उस महिला की बाद में कोविड-19 के लक्षणों के कारण बाद में अस्पताल में मौत हो गई थी.

महिला के पिता ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कराई है. युवती के साथ रेप सहित अन्य धाराओं में 6 लोगों के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है। आरोपित किसान सोशल आर्मी से जुड़े थे। आरोपितों में अनिल मलिक, अनूप सिंह, अंकुश सांगवान, जगदीश बराड़, कविता आर्य और योगिता सुहाग शामिल हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक़, 25 साल की महिला महिला 10 अप्रैल को एक किसान संगठन के साथ बंगाल से टीकरी बॉर्डर आई थी, ताकि तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन किया जा सके. महिला को झज्जर जिले के एक अस्पताल में 26 अप्रैल को कोविड के लक्षणों के बाद भर्ती कराया गया था, लेकिन 30 अप्रैल को उसकी मौत हो गई. आठ दिन बाद उसके पिता ने दुष्कर्म का मामला दर्ज कराया है. जांच के लिए डीएसपी के नेतृत्व में एक एसआईटी गठित की गई है।