कांग्रेस की सहयोगी शिवसेना ने बोला राहुल गाँधी पर हमला, कहा- सिर्फ ट्विटर पर एक्टिव हैं

विचारधारा को तिलांजलि देकर महाराष्ट्र में शिवसेना के नेतृत्व में बनाई गई सरकार में अब दरार पड़ने लगी है, शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना के जरिये कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उसके नेता राहुल गांधी सिर्फ ट्विटर पर सक्रिय ( Rahul Gandhi Active Twitter ) हैं। कांग्रेस द्वारा बीएमसी चुनाव अकेले लाडे जाने की अटकलों के बीच शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने इस सप्ताह की शुरुआत में कहा था कि शिवसेना ने अपने दम पर राजनीतिक लड़ाई लड़ी है..उसे कोई फर्क नहीं पड़ेगा। ( Rahul Gandhi Active Twitter )

संजय राउत ने कहा, “कल पार्टी का 55वां स्थापना दिवस था। मुख्यमंत्री और हमारे पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र में अकेले चुनाव लड़ने की बात कर रहे लोगों से कहा कि अगर वे ऐसा करेंगे तो हम क्या करेंगे? क्या हम बैठे रहेंगे? जो लोग चाहते हैं चुनाव अकेले लड़ें, उन्हें ऐसा करने दें. ( Rahul Gandhi Active Twitter )

शिवसेना ने सामना के जरिये कांग्रेस के नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए राहुल गंधी को सलाह दी है कि सिर्फ ट्विटर पर नहीं बल्कि मैदान पर भी विपक्षी नेताओं को एकजुट करने की कोशिश करनी चाहिए।

हालांकि, संजय राउत ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कहा था कि महाराष्ट्र विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार के सहयोगियों के बीच दरार पैदा करने की कोशिश की जा सकती है, लेकिन इसमें कोई सफल नहीं होगा, सरकार पांच साल का अपना कार्यकाल पूर्ण करेगी।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व् शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने शनिवार को कहा, जो लोग केवल लोगों की समस्याओं का समाधान किए बिना अकेले चुनाव लड़ने की बात करते हैं, उन्हें लोग “जूते से पीटेंगे”। शिवसेना के 55वें स्थापना दिवस के अवसर पर बोलते हुए ठाकरे ने कहा कि सभी राजनीतिक दलों को महत्वाकांक्षाओं को अलग रखना चाहिए और अर्थव्यवस्था और स्वास्थ्य पर ध्यान देना चाहिए।

उद्धव के इस बयान के बाद कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा, ‘कोरोना के बाद अपने बूते पर चुनाव लड़ने की जो बात करेगा लोग उसे जूते मारेंगे।’ मा. मुख्यमंत्री ने कल यह कहा।संभवत: इशारा कॉंग्रेस की ओर था। क्या यह भाषा सही है ? नहीं। बहुत ज्यादा बोल दिए। अपने सहयोगी को जूते से मारने की बात कहकर शिवसेना गठबंधन की मर्यादा लांघ गई। निंदनीय है।