राहुल गाँधी ने बोला हमला, कोरोना को गंभीरता से लेने के बजाय मोदी बंगाल में चुनाव लड़ रहे थे

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला, राहुल गांधी ने कहा, प्रधानमंत्री ने कोरोना को गंभीरता से नहीं लिया। बंगाल में चुनाव लड़ रहे थे। यह पूरा देश जानता है। भारत एक ही ऐसा देश है जहां प्राइवेट अस्पताल में पैसे देकर वैक्सीन लगाई जा रही है, कोरोना आर्थिक और सामाजिक बीमारी भी है। राहुल गाँधी ने कहा, लोगों को आर्थिक सहायता दी जाए। हमने न्याय का नाम दिया है। प्रधानमंत्री जी चाहे तो नाम बदल सकते है लेकिन लोगों को आर्थिक मदद दी जाए…Rahul Gandhi and Modi

मोदी सरकार को आगाह करते हुए राहुल गाँधी ने कहा, जो काम और जिन आवश्यकताओं की पूर्ति दूसरी लहर में नहीं की गयी वो सभी काम तीसरी लहर में बिलकुल किये जाने चाहिए; चाहे वह हॉस्पिटल बेड्स की आवश्यकता हो, इन्फ्रास्ट्रक्चर, ऑक्सीजन, दवाइयों की आवश्यकता हो, आज हम फिर से वहीं खड़े हैं; पूरा देश जानता है कि तीसरी लहर आने वाली है; वायरस म्यूटेट कर रहा है और तीसरी लहर आएगी ही; इसलिए हम एक बार फिर कह रहे हैं कि सरकार को तीसरी लहर को लेकर पूरी तैयारी करनी चाहिए।…Rahul Gandhi and Modi


कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने कहा, पूरा देश जानता है कि दूसरी लहर से पहले हमारे वैज्ञानिकों और डॉक्टर्स ने दूसरी लहर की बात की थी; उस समय जो कार्य सरकार को करने थे, जो व्यवहार होना चाहिए था, वह नहीं रहा और पूरे देश को दूसरी लहर का असर सहना पड़ा।…Rahul Gandhi and Modi

राहुल गांधी ने कहा कि ‘कोरोना की समस्या आप सभी जानते हैं; देश को जो दर्द पहुंचा, लाखों लोगों की मृत्यु हुई; कोरोना ने क्या किया है यह पूरा देश जानता है; हमने यह श्वेत पत्र डिटेल में तैयार किया है और इस श्वेत पत्र के दो तीन लक्ष्य हैं, इस श्वेत पत्र का लक्ष्य किसी पर ऊँगली उठाना नहीं है, इसका लक्ष्य ये नहीं है कि सरकार ने कुछ गलत किया; हम गलती की तरफ इशारा इसलिए कर रहे हैं क्योंकि हम जानते हैं कि आने वाले समय में इन गलतियों को ठीक करना करना होगा।