बैठक से पहले ही महबूबा-अब्दुल्ला गैंग को लगा बड़ा झटका, PM मोदी ने कहा- पूर्ण राज्य का मुद्दा अस्वीकार्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 जून को नई दिल्ली में जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ सर्वदलीय बैठक ( Modi Meeting Kashmir Leader ) बुलाई है, बैठक से पहले अटकलें लगाई जा रही थी कि इस बैठक ( Modi Meeting Kashmir Leader ) के बाद जम्मू कश्मीर का पूर्ण राज्य का दर्जा बहाल हो सकता है, महबूबा-अब्दुल्ला गैंग ने भी यही मांग की थी और उम्मीद जताई थी, लेकिन बातचीत से पहले ही इन सबको तगड़ा झटका लगा है, प्रधानमंत्री ने दो टूक कहा है कि धारा 370 की वापसी और पूर्ण राज्य का मुद्दा अस्वीकार्य है, यानि इस मसले पर कोई बातचीत नहीं होगी, जम्मू कश्मीर केंद्रशासित प्रदेश है और आगे भी रहेगा।

जम्मू कश्मीर के नेताओं और पीएम मोदी के बीच बैठक ( Modi Meeting Kashmir Leader ) में क्या बातचीत होगी इसका एजेंडा सामने आ गया है, एबीपी न्यूज़ के पत्रकार विकास भदौरिया ने बताया कि कल कल की बैठक में जम्मू कश्मीर के पूर्ण राज्य के मुद्दे पर कोई बातचीत नहीं होगी। आर्टिकल 370 पर भी कोई चर्चा नहीं होगी। चर्चा होगी तो सिर्फ विकास और लोकतांत्रिक प्रक्रिया को बहाल करने के मुड़े पर.

जम्मू-कश्मीर पर पीएम नरेंद्र मोदी की बड़ी बैठक का अजेंडा विकास की रफ़्तार और लोकतांत्रिक प्रक्रिया को तेज करना मक़सद, पीएम ने कहा, पाकिस्तान का नाम लेने वाले जम्मू कश्मीर के शुभ चिंतक नहीं, धारा 370 की वापसी और पूर्ण राज्य का मुद्दा अस्वीकार्य।


बैठक में शामिल होने से पहले गुपकार गैंग ने दो दिन पहले फारूक अब्दुल्ला के आवास पर एक बैठक की, इस बैठक के बाद पीडीपी मुखिया ने पाकिस्तान प्रेम दिखाते हुए कहा, बातचीत से ही कश्मीर मुद्दे का हल निकलेगा। महबूबा ने पाकिस्तान से बातचीत की मांग की है, महबूबा मुफ्ती ने कहा, अगर मोदी सरकार कश्मीर में शांति कायम रखना चाहती है तो उसे पाकिस्तान से भी बात करनी चाहिए।

PDP अध्यक्षा महबूबा मुफ़्ती ने कहा, हमारा पीपुल्स अलायंस का जो एजेंडा है। जिसके लिए हमने ये अलायंस बनाया है, जो हमसे छीना गया है, हम उसपर बात करेंगे कि ये आपने गलती की है, यह असंवैधानिक है। इसको बहाल किए बगैर जम्मू-कश्मीर का मसला और हालात में अमन बहाल नहीं कर सकते। गुपकर गैंग के सदस्य मुजफ्फर शाह ने कहा, “हम सब चीज़ों पर बात करेंगे। हम 35A और धारा 370 पर में भी बात करेंगे।”