उत्तर प्रदेश में सरकारी अस्पतालों में OPD सेवाएं आज से फिर शुरू हुई

उत्तर प्रदेश में गैर-कोविड रोगियों को बड़ी राहत देते हुए राज्य के सरकारी अस्पतालों में ओपीडी सेवाएं आज से फिर शुरू हो जाएंगी। राज्य सरकार ने इस संबंध में आदेश और आवश्यक दिशा-निर्देश पहले ही जारी कर दिये हैं। ये निर्णय राज्य में कोविड रोगियों की घटती संख्या को देखते हुए लिया गया है। ओपीडी फिर शुरू होने से अन्य बीमारियों से पीड़ित लाखों रोगियों को मदद मिलेगी। कोविड की दूसरी लहर से पहले निर्धारित सर्जरी या कोई भी नई सर्जरी अब आरटीपीसीआर या ट्रूनैट रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद ही की जाएंगी।

उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में सामान्य रोगियों के लिए ओपीडी सेवाएं शुरू करने की अनुमति दी है। अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, अमित मोहन प्रसाद द्वारा जारी एक आदेश में कहा गया है, “गैर-कोविड ​​-19 देखभाल की खराब उपलब्धता के कारण पीड़ित रोगियों की रिपोर्ट के बीच, सामान्य रोगी देखभाल को बहाल करना महत्वपूर्ण है।

आदेश में कहा गया है कि कोविड-19 संक्रमण को देखते हुए जिला अस्पतालों में शल्य चिकित्सा सेवाएं भी उचित देखभाल और सावधानी के साथ शुरू की जानी चाहिए। सभी जिला अस्पतालों में चिकित्सक, फिजियोथेरेपिस्ट और मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों की उचित व्यवस्था के साथ पोस्ट-कोविड देखभाल भी शुरू की जानी चाहिए। सभी स्वास्थ्य सुविधाओं में फीवर क्लीनिक होना चाहिए। बुखार, इन्फ्लूएंजा जैसी बीमारी वाले मरीजों को अन्य मरीजों से दूर रखना चाहिए। वहां भी कोविड-19 की जांच की जानी चाहिए। आदेश में यह भी कहा गया है कि सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर आउट पेशेंट और इन-पेशेंट सेवाएं शुरू की जानी चाहिए. आपको बता दें कि कोरोना के चलते ओपीडी सेवायें लम्बे समय से बंद थीं. लेकिन अब स्थिति अनुकूल हो रही है, इसलिए सरकार ने खोलने का फैसला लिया है.