अमृतसर में लगे नवजोत सिंह सिद्धू के लापता होने के पोस्टर, जानकारी देने वाले को मिलेगा 50000 ईनाम

नवजोत सिंह लापता के पोस्टर, image tweeted @Thesachofficial

पंजाब कांग्रेस में अब घमासान बढ़ता ही जा रहा है, पंजाब के अमृतसर में कांग्रेस नेता नवजोत सिंह के लापता होने के पोस्टर लगे हैं, जानकारी देने वाले को 50 हजार ईनाम देने का ऐलान किया गया है, पोस्टर अमृतसर की सड़कों पे चिपके हुए हैं. कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के ‘लापता’ पोस्टर उनके विधानसभा क्षेत्र अमृतसर पूर्व में लगाए गए हैं.

नवजोत सिंह सिद्धू के लापता होनें के पोस्टर एक एनजीओ ने लगाए हैं, इंडिया टुडे के मुताबिक़, एनजीओ ने आरोप लगाया है कि ‘नवजोत सिंह सिद्धू चुनाव जीतने के बाद लोगों से किए गए विकास के वादे को भूल गए। एनजीओ ने दावा किया कि सिद्धू लंबे समय से अपने विधानसभा क्षेत्र में नहीं आए हैं।

हालाँकि यह पहली बार नहीं है जब सिद्धू के ‘लापता’ पोस्टर उनके विधानसभा क्षेत्र में लगाए गए हैं। जुलाई 2019 में, शिरोमणि अकाली दल के नेता द्वारा सिद्धू के ‘लापता’ होनें के पोस्टरों को अमृतसर में चिपका दिया गया था, जिसमें सिद्धू का पता बताने वाले को 2,100 रुपये का इनाम देने और पाकिस्तान की मुफ्त यात्रा कराने का वादा किया गया था। इससे पहले 2009 में, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अमृतसर में सिद्धू के ‘लापता’ पोस्टर लगाए, सिद्धू उस समय भाजपा में हुआ करते थे.

नवजोत सिंह सिद्धू

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, मंगलवार को कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पार्टी के राज्य नेतृत्व में मतभेदों को सुलझाने के लिए अंतरिम पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा गठित तीन सदस्यीय कांग्रेस पैनल से मुलाकात की। सिद्धू और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच काफी लम्बे समय से तकरार चल रही है.

 

सिद्धू पंजाब के मुख़्यमंत्रीं अमरिंदर सिंह के आलोचक रहे हैं, इसी के चलते उन्हें मंत्रिपद भी खोना पड़ा था, सिद्धू ने 2019 में वादा किया था कि अगर राहुल गांधी चुनाव हार जाएंगे तो वो राजनीति से सन्यास ले लेंगे, राहुल गाँधी चुनाव हार गए लेकिन सिद्धू सन्यास नहीं लिए.