मैगी, चॉकलेट खाने वाले हो जाएँ सावधान, कहीं जानलेवा न बन जाय? कम्पनी ने खुद किया सनसनीखेज खुलासा

मैगी

अगर आप मैगी, चॉकलेट व् विदेशी कम्पनी नेस्ले का कोई भी प्रोडक्ट यूज कर रहे हैं तो आपको सावधान रहने की आवश्यकता है, जी हाँ! खुद नेस्ले कम्पनी ने सनसनीखेज खुलासा करके हड़कंप मचा दिया है, जी हाँ! खबर आ रही है कि नेस्ले के 60 फीसदी प्रॉडक्ट स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है, यानि इसका सेवन जानलेवा भी बन सकता है, इसलिए खानें से पहले सावधानी अवश्य बरतें।

कम्पनी ने खुलासा किया है कि मैगी समेत उसके 60 फीसदी फूड प्रोडक्ट और ड्रिंक्स सेहत के लिए हानिकारक है. फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट आने के कुछ दिनों बाद नेस्ले ने अपनी गलती स्वीकार की है, नेस्ले के प्रवक्ता ने कहा, कम्पनी पोषण और स्वास्थ्य रणनीति को अपडेट करने के लिए अपने पूरे पोर्टफोलियो की समीक्षा कर रही है। फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट में दावा किया गया है था कि नेस्ले के मुख्यधारा के खाद्य और पेय पोर्टफोलियो में से अधिकांश स्वास्थ्य और पोषण के मान्यता प्राप्त मानकों को पूरा करने में विफल रहे हैं।

फाइनेंशियल टाइम्स के मुताबिक ऑस्ट्रेलिया के हेल्थ स्टार रेटिंग सिस्टम के तहत कंपनी के 37% प्रॉडक्ट्स को ही को 3.5 स्टार मिले हैं. 3.5 स्टार की रेटिंग रिकग्नाइज्ड डेफिनेशन ऑफ हेल्थ’ मानी जाती है. इन प्रॉडक्ट्स में पेट फूड यानी पालतू जानवरों का खाना और स्पेशलाइज्ड मेडिकल न्यूट्रीशन शामिल नहीं हैं.

इसके बाद के नेस्ले कंपनी ने एक बयान जारी कर कहा है कि वह अपनी न्यूट्रीशन और हेल्थ स्ट्रैटेजी को अपडेट करने के लिए काम कर रही है. कंपनी लोगों की न्यूट्रीशनल जरूरतों को पूरा कर सके, यह सुनिश्चित करने की दिशा में काम हो रहा है.

maggi-maker-nestle-admits-that-60%-of-products-are-unhealthy
मैगी

आपको बता दें, इससे पहले भी नेस्ले के फूड प्रॉडक्ट्स के हेल्दी होने पर सवाल खड़े हुए थे और साल 2015 में नेस्ले के पॉपुलर प्रॉडक्ट मैगी को लेकर काफी विवाद भी हुआ था. उत्तर प्रदेश के फूड सेफ्टी रेगुलेटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक 2 मिनट में बनने वाले मैगी नूडल्स में मोनोसोडियम ग्लूटामेट का लेवल बहुत अधिक था साथ ही लेड का स्तर, जितनी मात्रा की अनुमति है उससे 17 गुना ज्यादा था. जिसके बाद मैगी के स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होने को लेकर काफी वाद विवाद हुए और विदेश में कई जांच कराई गई. आखिर में भारत सरकार ने जून 2015 में मैगी नूडल्स को पूरे देश में बैन ही कर दिया था.