मुंबई पुलिस ने दायर की चार्जशीट, रिपब्लिक चैनल के मालिक अर्णब गोस्वामी को TRP केस में आरोपी बनाया

arnab republic

मंगलवार को मुंबई पुलिस ने टीआरपी घोटाला मामले में चार्जशीट दाखिल की और रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अर्नब गोस्वामी को आरोपी बनाया है, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ने एस्प्लेनेड मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट कोर्ट में दायर की अपनी 1800 पेज की सप्लीमेंट्री चार्जशीट में गोस्वामी और एआरजी आउटलियर मीडिया (जो रिपब्लिक टीवी का मालिक है) से चार अन्य को आरोपी बनाया है। इस मामले में प्राथमिकी नौ महीने पहले मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परम बीर सिंह द्वारा चैनल को घोटाले में शामिल किए जाने के बाद दर्ज की गई थी। TRP Scam Arnab Goswamy

8 अक्टूबर, 2020 को, मुंबई के तत्कालीन पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने कहा था कि एक टीआरपी रैकेट का भंडाफोड़ किया गया था जिसमें रिपब्लिक टीवी, बॉक्स सिनेमा और फकट मराठी शामिल थे। उनके अनुसार, चैनल अपने दर्शकों की संख्या बढ़ाने के लिए ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (बीएआरसी) के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) पार्थो दासगुप्ता को कथित तौर पर रिश्वत देकर टीआरपी में हेरफेर कर रहे थे। TRP Scam Arnab Goswamy

टीआरपी घोटाला पिछले साल तब सामने आया जब बीएआरसी ने हंसा रिसर्च ग्रुप के जरिए शिकायत दर्ज कराई कि कुछ टीवी चैनल टीआरपी नंबरों में हेराफेरी कर रहे हैं। TRP Scam Arnab Goswamy

मुंबई पुलिस ने इस मामले में बीएआरसी के पूर्व सीओओ समेत 13 लोगों को गिरफ्तार किया है. इसने मामले में हंसा रिसर्च ग्रुप के पूर्व अधिकारियों, न्यूज चैनलों के मालिकों और रिपब्लिक मीडिया के एक कर्मचारी घनश्याम सिंह भी शामिल थे, जिन्हें जमानत मिल चुकी है..घनश्याम सिंह रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क के असिसटेंट वाइस प्रेसिडेंट और डिस्ट्रीब्यूशन हेड हैं। उन्हें पिछले हफ्ते फेक टीआरपी के मामले में गिरफ्तार किया गया था। लगभग 15 दिन बाद जमानत मिली थी. मुंबई पुलिस ने टीआरपी हेरफेर मामलें में रिपब्लिक टीवी के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर (COO) प्रिया मुखर्जी को भी तलब किया था.

पुलिस ने कहा था कि घनश्याम सिंह ने केबल ऑपरेटरों और मल्टी सिस्टम ऑपरेटर्स (MSOs) के साथ मिलकर रिपब्लिक टीवी को ड्यूल लॉजिकल चैनल नंबर (LCNs) या दो फ्रीक्वेंसी पर चलाया, जो भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) के दिशानिर्देशों का उल्लंघन है।