मंदिर की रजिस्ट्री देखने वाले विपक्षियों से बोले MLA सांगा, अब मस्जिदों, मदरसों की भी रजिस्ट्री देख लो

विपक्षी पार्टियां, मुख्य रूप से समाजवादी पार्टी और ‘आम आदमी पार्टी’ अयोध्या राम मंदिर निर्माण के लिए जमीन खरीद रहे ट्रस्ट पर घोटाले का आरोप लगा रही हैं, हालांकि ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट’ और विश्व हिन्दू परिषद विपक्ष के दावों को निराधार साबित कर चुके हैं, इसके बावजूद विपक्षी पार्टियाँ बाज नहीं आ रही हैं, इन सबके बीच भाजपा सांसद अभिजीत सिंह सांगा ने कहा है कि मंदिर की रजिस्ट्री देख लिए हो तो अब जाकर मस्जिद और मदरसों की भी रजिस्ट्री देख लो.

कानपुर के बिठूर से भाजपा विधायक अभिजीत सिंह सांगा ने अपने ट्वीट में लिखा, विपक्षियों मन्दिर की रजिस्ट्री देख ली हो तो.. अब मजारों.. मस्जिदों.. मदरसों और चर्चों की जमीन की रजिस्ट्री भी देख लो जाकर।


गौरतलब है कि संजय सिंह ने दावा किया है कि राम जन्मभूमि ट्रस्ट ने अयोध्या में 18.5 करोड़ रुपये में जमीन का एक टुकड़ा खरीदा था, जिसे राम मंदिर ट्रस्ट द्वारा खरीदे जाने से 10 मिनट पहले सिर्फ 2 करोड़ रुपये में बेचा गया था.

संजय सिंह के इस आरोप के बाद विश्व हिन्दू परिषद् के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ अलोक कुमार एडवोकेट ने कहा, ये जमीन हरीश पाठक और कुसुम पाठक की थी, कुछ वर्ष पहले एक ‘रजिस्टर्ड to एग्रीमेंट सेल’ उन्होंने किया सुल्तान अंसारी, रविमोहन तिवारी और दूसरे लोगों के साथ, कुछ वर्ष पहले वह एग्रीमेंट हुआ था तो उसी समय के प्राइस यानि रेट/दाम पर हुआ, और उस समय का प्राइस था दो करोड़ रूपये। अब इसकी कीमत है लगभग 20 करोड़ हैं, लेकिन हम लोगों ने विनती की साढ़े 18 करोड़ में मिली ( विस्तार से यहाँ पढ़ सकते हैं )