महान भारतीय धावक मिल्खा सिंह का हुआ निधन, पांच दिन पहले ही पत्नी ने छोड़ी थी दुनिया

महान भारतीय धावक मिल्खा सिंह का कल देर रात निधन हो गया, 91 वर्ष की उम्र में मिल्खा सिंह ने पीजीआई चंडीगढ़ में अंतिम सांस ली, पांच दिन पहले ही उनकी पत्नी निर्मल कौर का कोरोना से निधन हुआ था। उनकी पत्नी बॉलीबाल खिलाडी थीं. कोविड से रिकवर होने के बाद कार्डियो ICU में थे। 19 मई को मिल्खा सिंह की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जिसके बाद उन्होनें अपने चंडीगढ़ स्थित आवास पर घर से खुद को अलग कर लिया था, यानि क्वारन्टाइअन हो गए थे. milkha singh died

24 मई को, महान एथलीट मिल्खा सिंह को “कोविड निमोनिया” के कारण मोहाली के फोर्टिस अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। इसके बाद उन्हें 3 जून को चंडीगढ़ के पीजीआईएमईआर ले जाया गया। उनके परिवार ने एक बयान में घोषणा की, “यह अत्यंत दुख के साथ है कि हम आपको सूचित करना चाहते हैं कि मिल्खा सिंह जी का 18 जून 2021 को रात 11.30 बजे निधन हो गया।” milkha singh died

बयान में आगे कहा गया है, “उन्होंने बहुत संघर्ष किया लेकिन भगवान के अपने तरीके हैं और यह शायद सच्चा प्यार और साथ था कि हमारी मां निर्मल जी और अब पिताजी दोनों का निधन 5 दिनों के भीतर हो गया।” अस्पताल ने एक बयान में कहा, “13 जून तक वहां उनका इलाज किया गया, जिसके बाद उनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आ गई थी. मिल्खा सिंह के निधन पर राष्ट्रपति से लेकर प्रधानमंत्री तक ने शोक व्यक्त किया है. milkha singh died

मिल्खा सिंह को’फ्लाइंग सिख’ के रूप में जाना जाता है, मिल्खा सिंह ने एशियाई खेलों में चार स्वर्ण पदक जीतकर ट्रैक और फील्ड में अपना नाम बनाया। उन्होंने कार्डिफ में 1958 के राष्ट्रमंडल खेलों में भी स्वर्ण पदक जीता था। वह 1960 के रोम खेलों के 400 मीटर फाइनल में चौथे स्थान पर रहते हुए ओलंपिक पदक से चूक गए। मिल्खा सिंह को 1959 में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।