महबूबा मुफ़्ती ने फिर अलापा पाकिस्तान का राग, जानिए धारा 370 को लेकर क्या बोलीं?

प्रधानमंत्री मोदी के साथ जम्मू-कश्मीर के नेताओं की सर्वदलीय बैठक समाप्त हो गई है, यह बैठक करीब साढ़े तीन घंटे तक चली, सबसे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी बात रखी, उसके बाद कश्मीर के सभी नेताओं ने एक-एक करके अपने एजेंडे को सामने रखा, पीएम मोदी के साथ बैठक ख़त्म होने के बाद मीडिया से बात करते हुए पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ़्ती ने एक बार फिर से पाकिस्तान ( Mehbooba Mufti pakistan ) का राग अलापा, इसके अलावा उन्होंने कहा, धारा 370 गैरकानूनी तरीके से हटाई गई.

जम्मू काश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने कहा, मैंने बैठक में कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग धारा 370 को रद्द होने से नाराज़ है। हम जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को फिर से बहाल करेंगे। इसके लिए हम शांति का रास्ता अपनाएंगे। इस पर कोई समझौता नहीं होगा। महबूबा ने आगे कहा, मैंने बैठक में प्रधानमंत्री से कहा कि अगर आपको धारा 370 को हटाना था तो आपको जम्मू-कश्मीर की विधानसभा को बुलाकर इसे हटाना चाहिए था। इसे गैरकानूनी तरीके से हटाने का कोई हक नहीं था। हम धारा 370 को संवैधानिक और क़ानूनी तरीके से बहाल करना चाहते हैं. ( Mehbooba Mufti pakistan )


पाकिस्तान का राग अलापते हुए महबूबा मुफ़्ती ने कहा, जम्मू-कश्मीर के लोगों की शांति के लिए पाकिस्तान से बात की जाए। यहां कोई सांस नहीं ले पाता है, सबको जेल में डाल दिया जाता है। ये सब बंद होना चाहिए। ( Mehbooba Mufti pakistan )

महबूबा मुफ़्ती ने कहा, जम्मू-कश्मीर के लोग संवैधानिक, लोकतांत्रिक, शांतिपूर्ण तरीके से संघर्ष करेंगे। महीने लगें या साल, हम जम्मू-कश्मीर में धारा 370 को बहाल करेंगे क्योंकि यह हमारी पहचान का मामला है। हमें पाकिस्तान से नहीं मिला, हमारे देश ने हमें दिया, नेहरू, सरदार पटेल ने.

महबूबा मुफ़्ती ने कहा, जम्मू-कश्मीर के लोग 5 अगस्त 2019 के बाद बहुत मुश्किलों में हैं। वे गुस्से में हैं, परेशान हैं और भावनात्मक रूप से टूट चुके हैं। वे अपमानित महसूस करते हैं। मैंने पीएम से कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोग जिस तरह से अनुच्छेद 370 को असंवैधानिक, अवैध और अनैतिक रूप से निरस्त किया गया, उसे स्वीकार नहीं करते।