ट्विटर को सस्पेंड करके नाइजीरिया ने लॉन्च किया ‘मेड इन इण्डिया’ Koo App

माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर को नाइजीरिया सरकार ने अनिश्चितकालीन के लिए सस्पेंड कर दिया है. ट्विटर के स्थान पर भारतीय माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म कू ऐप को लांच ( Nigeria koo app) कर दिया है, कू के सीईओ ने इसकी जानकारी दी, ‘मेड इन इंडिया’ माइक्रोब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म, कू ने कहा कि यह एप अब नाइजीरिया में उपलब्ध है और उस पश्चिमी अफ्रीकी देश में उपयोगकर्ताओं के लिए नई स्थानीय भाषाओं को जोड़ने का इच्छुक है।

नाइजीरियाई सरकार द्वारा देश में ट्विटर के अनिश्चितकालीन निलंबन की घोषणा के एक दिन बाद कू को लॉन्च किया गया, शनिवार को कू पर एक पोस्ट में, इसके सीईओ और सह-संस्थापक, अप्रमेय राधाकृष्ण ने आधिकारिक तौर पर पुष्टि की कि अब कू अब नाइजीरिया में उपलब्ध है।

समाचार एजेंसी पीटीआई से बात करते हुए, राधाकृष्णन ने कहा, “हम वहां की स्थानीय भाषा को भी जोड़ने के बारे में सोच रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि वे कू ऐप में एक स्थानीय नाइजीरियाई भाषा शुरू करने पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने पहले कहा था, “भाषा विविधता के मामले में नाइजीरिया भारत के समान है। इसमें सैकड़ों क्षेत्रीय भाषाएं हैं। उन्होंने कहा, हमने एक स्केलेबल प्लेटफॉर्म बनाया है, और हम अभी भी इसको बढ़ा रहे हैं, यह आज भी कई देशों में उपयोग के लिए पहले से ही उपलब्ध है।

नाइजीरियाई अटॉर्नी जनरल और न्याय मंत्री, अबूबकर मलामी ने संघीय सरकार द्वारा नाइजीरिया में ट्विटर के संचालन पर प्रतिबंध के बावजूद, अभी भी ट्विटर का उपयोग करने वाले नाइजीरियाई लोगों के खिलाफ तत्काल मुकदमा चलाने का आदेश दिया। ( Nigeria koo app )

नाइजीरिया में अनिश्चितकालीन के लिए सस्पेंड होने के बाद Twitter Public Policy ने ट्वीट कर कहा कि ‘हम नाइजीरिया में ट्विटर को ब्लॉक किए जाने से बहुत चिंतित हैं। आधुनिक समाज में मुफ्त और #OpenInternet तक पहुंच एक आवश्यक मानव अधिकार है। हम नाइजीरिया में उन सभी लोगों के लिए पहुंच बहाल करने के लिए काम करेंगे जो दुनिया से संवाद करने और जुड़ने के लिए Twitter पर भरोसा करते हैं।