रिटायर होने से पहले केरल के DGP का बड़ा कबूलनामा, ISIS की भर्ती का अड्डा बन गया है केरल

पिछले कुछ वर्षों में केरल से आतंकी संगठन ISIS में कई भर्तियां हुई हैं, अब इसे केरल के डीजीपी लोकनाथ बोहरा ने भी कबूल किया है, केरल के पुलिस महानिदेशक ( डीजीपी ) लोकनाथ बेहरा ने कहा है कि केरल में कट्टरपंथ चिंता का विषय है और राज्य पुलिस कट्टरपंथ को खत्म करने और कट्टरपंथ विरोधी कार्यक्रम चलाकर इससे निपटने के लिए प्रयासरत है। Kerala ISIS Lokanath Behera

लोकनाथ बोहरा 30 जून को केरल के डीजीपी पद से रिटायर होंगी, उससे पहले एक टीवी चैनल से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि इस्लामिक स्टेट (आईएस) में लोगों की भर्ती चिंता का विषय है, लेकिन हाल ही में इसमें कमी आई है। उन्होंने कहा, “सूचनाओं के मुताबिक, केरल भर्ती का केंद्र है क्योंकि यहां के लोग शिक्षित हैं और आईएस को इंजीनियरों और डॉक्टरों की जरूरत है। लेकिन हम इससे व्यवस्थित तरीके से निपट रहे हैं. Kerala ISIS Lokanath Behera

उन्होंने कहा कि 21 परिवारों के ISIS के नियंत्रण वाले इलाकों में जाने की खबर के बाद सतर्क केरल पुलिस ने अच्छा काम किया है। हमने देश के सर्वश्रेष्ठ एटीएस में से एक का गठन किया है और यह पर्दे के पीछे बहुत अच्छा काम कर रहा है। इसीलिए बहुत चिंता की बात नहीं है। बेहरा ने कहा, पुलिस ने आतंकवादी समूहों के संदिग्ध स्लीपर सेल पर निगरानी बढ़ा दी है। Kerala ISIS Lokanath Behera

बेहरा ने कहा कि वामपंथी चरमपंथियों को दी गई आत्मसमर्पण नीति विफल रही है। उन्होंने कहा, “नक्सलियों के खिलाफ इस्तेमाल किए जा सकने वाले आधुनिक हेलीकॉप्टर को किराए पर लेने के लिए एक नया वैश्विक टेंडर जारी किया गया है। अगर वे हिंसा फैलाने की कोशिश करते हैं, तो हम इसका कड़ा जवाब देंगे।”

उन्होंने कहा कि आतंकवादी गतिविधियों के लिए UAPA लगाने में भी पुलिस को नहीं हिचकना चाहिए, क्योंकि क्योंकि ये एक संसद से पारित कानून है, उल्लेखनीय है कि समय-समय पर केरल के युवाओं के ISIS में शामिल होने की खबर आती रहती है.