होम आइसोलेशन के भी काम नहीं आये केजरीवाल के मोहल्ला क्लीनिक, भाजपा ने लगाई लताड़!

kejriwal-mohalla-clinic-fail-in-delhi-says-bjp
Image Credit - The Quint

BJP mla ramvir vidhuri said that Kejriwal Mohalla Clinic scheme failed, even home isolation could not be of use during the Corona period.

कोरोना वायरस की दूसरी लहर का प्रकोप जारी है। सबसे ज्यादा दिल्ली के हालात खराब हैं, दिल्ली को लन्दन बनानें का वादा करनें वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल दिल्ली में तेजी से फैलते कोरोना को रोकनें में फेल हो गए। अब भाजपा ने केजरीवाल के सबसे पसंदीदा प्रोजेक्ट मोहल्ला क्लीनिक ( Kejriwal Mohalla Clinic scheme) पर सवाल उठाया है, भाजपा का कहना है कि केजरीवाल का मोहल्ला क्लीनिक आखिर किस काम का है जो कोरोना काल में होम आइसोलेशन के भी काम नहीं आ सका. इससे पहले कांग्रेस भी मोहल्ला क्लिनिक ( Kejriwal Mohalla Clinic scheme) पर सवाल उठा चुकी है.

भाजपा विधायक रामवीर सिंह विधूड़ी ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके कहा, थर्ड क्लास मोहल्ला क्लीनिक का इस्तेमाल होम आइसोलेशन के लिए क्यों नहीं किया गया. मोहल्ला क्लीनिक ( Kejriwal Mohalla Clinic scheme) में कम से कम ऑक्सीजन लेवल और टेम्परेचर तो मापा जा सकता था, लेकिन केजरीवाल सरकार पूरी तरह से फेल साबित हुई. विधूड़ी ने कहा, सरकार ने जिस तरह से टेस्टिंग और वैक्सीनेशन के लिए अलग से केंद्र खोले वह इन मोहल्ले क्लीनिक में भी हो सकते थे और स्टाफ की जरूरत भी नहीं पड़ती क्योंकि एक मोहल्ला क्लीनिक में 4 स्टाफ पहले से ही थे.

भाजपा विधायक विधूड़ी ने कहा, दूसरी लहर में जिस तरह से पूरे दिल्ली को जखम दिया है, अफरा-तफरी मची, जनजीवन का नुकसान हुआ, उसमें दिल्ली सरकार के “वर्ल्ड क्लास“ मोहल्ला क्लीनिक की पोल खुल चुकी है..


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर गंभीर आरोप लगाते हुए विधूड़ी ने कहा, केजरीवाल सरकार ने अपनी लचर स्वास्थ्य व्यवस्था की कमी को छुपाने के लिए लोगों को होम आइसोलेशन में रोककर संक्रमण को बढ़ाया और जिसके कारण मृत्यु दर प्रति दस लाख व्यक्ति दिल्ली में सबसे अधिक रही ऐसा क्यों। दिल्ली के लगभग 70 प्रतिशत मकान ऐसे हैं जो 100 गज से कम हैं उनमें लोग रहते हैं और जिनमें कॉमन बाथरूम है। उनमें आइसोलेट होना मतलब कोरोना को खुद दावत देना है.

इससे पहले दिल्ली कांग्रेस ने मोहल्ला क्लीनिक पर सवाल उठाते हुए कहा था, केजरीवाल के तथाकथित वर्ल्ड क्लास मोहल्ला क्लिनिक पूरी तरह से फैल। करोड़ो रूपये की लागत से बने मोहल्ला क्लिनिक ना कोरोना टेस्टिंग के काम आ रहे हैं ना ही वैक्सीन लगाने के लिए. आखिर क्यों?