‘बाबा का ढाबा’ वाले कांता प्रसाद ने की सुसाइड की कोशिश, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

दिल्ली के मालवीय नगर में स्थित ‘बाबा का ढाबा‘ के मालिक कांता प्रसाद ने आत्महत्या की कोशिश की, गंभीर हालत में दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में एडमिट हैं, जहां उनका ईलाज चल रहा है, पुलिस ने कहा कि “बाबा का ढाबा” के मालिक कांता प्रसाद (80) को गुरुवार रात सफदरजंग अस्पताल में एक आत्महत्या के प्रयास के बाद भर्ती कराया गया. पुलिस ने कहा कि उन्हें गुरुवार की देर रात एक पीसीआर कॉल मिली कि आत्महत्या का प्रयास करने वाला एक व्यक्ति अस्पताल पहुंचा है। “पुलिस मौके पर पहुंची और पाया कि वह कांता प्रसाद है। फिलहाल उनका इलाज चल रहा है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस को जानकारी दी कि उनकी पत्नी ने पुलिस को बताया कि वह पिछले कुछ दिनों से उदास थे. baba ka dhaba suicide

उनकी पत्नी ने यह भी कहा कि कांता प्रसाद को पिछले साल दिसंबर में अपने द्वारा खोले गए रेस्तरां को बंद करना पड़ा और सड़क के किनारे अपने पुराने स्टाल पर वापस आ गए क्योंकि नए प्रतिष्ठान को चलाने की लागत लगभग 1 लाख रुपये थी, जबकि उनकी आय केवल 30,000 रुपये थी। baba ka dhaba suicide

उल्लेखनीय है कि पिछले साल कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन के कारण दिल्ली के मालवीय नगर में ‘बाबा का ढाबा’ चलाने वाला कांता प्रसाद आर्थिक तंगी का शिकार हो गए थे, इसी दौरान बाबा के पास गौरव वासन नाम के एक यु-ट्यूबर पहुंचे। बाबा का वीडियो रातों रात वायरल हो गया और लोग बेइंतहा बाबा की मदद करने के लिए आने आगे लगे. फलतः बाबा के पास अकूत धन आ गया. इसके बाद बाबा ने जो किया, वो किसी को पसंद नहीं आया. baba ka dhaba suicide

नए-नए धनैत बने कांता प्रसाद ने गौरव वासन के खिलाफ ही केस कर दिया, और खुद बड़ा होटल खोल लिए. समय का चक्र ऐसा बदला कि बाबा फिर से अपने ढाबे में वापस आ गए, तीन दिन पहले ही सारे गिले-शिकवे भुलाकर गौरव वासन ने फिर बाबा से मुलाक़ात की थी.