ये आईपी सिंह गद्दार है, पहले योगी की जूतियाँ उठाता था, अब अखिलेश की चप्पल उठा रहा है: प्रमोद कृष्णम

Pramod Krishnam IP Singh

समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद सोशल मीडिया पर अब कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम और समाजवादी पार्टी के नेता आईपी सिंह ( Pramod Krishnam IP Singh) के बीच भिड़ंत हो गई है, एक ओर सपा नेता आईपी सिंह ने प्रमोद कृष्णम को ढोंगी और पाखंडी बताया तो वहीँ वहीँ प्रमोद कृष्णम ने भी जोरदार पलटवार करते हुए आईपी सिंह को गद्दार और अखिलेश यादव की चप्पल उठाने वाला बताया। दोनों नेताओं के बीच सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भाषा की मर्यादा लांघी जा रही है.

दरअसल सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के वैक्सीन लगवाने के बाद कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम ने तंज भरे लहजे में ट्वीट कर कहा, भाजपाई “वैक्सीन” और “समाजवाद” का गठबंधन मुबारक हो अखिलेश यादव जी. इसके बाद कांग्रेस नेता को जवाब देते हुए समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता आईपी सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा, आपकी सपा से गठबंधन की चाह किससे छिपी है? पर गाजियाबाद में जिसके चरित्र चित्रण की आज तक चर्चा है उसके मुँह से सस्ते तंज शोभा नही देते। कहिए तो आपने अपनी ही पार्टी की नेताओं के लिए क्या क्या कहा है पत्रकारों और साथियों से लिखूँ? या आप कब कब ‘भागे’ हैं ये लिखूँ? बुरा मान जाएँगे। ( Pramod Krishnam IP Singh)

एक दूसरे ट्वीट में आईपी सिंह ने प्रमोद कृष्णम को ढोंगी और पाखंडी करार देते लिखा, एक ढोंगी और पाखंडी और खुद को कांग्रेस नेता कहने वाला आचार्य प्रमोद कृष्णम अपनी ही पार्टी की नेत्री प्रियंका गांधी वाड्रा के बारे में पत्रकारों से कह रहा था की ‘प्रियंका गांधी एक खत्म फिल्म हैं’। आज कहीं का नही रहा तो छटपटा रहा है। इसकी असलीयत जाननी हो तो गुलाम नबी आजाद से सम्पर्क करें। ( Pramod Krishnam IP Singh )


इसके बाद सपा नेता आईपी सिंह पर पलटवार करते हुए प्रमोद कृष्णम ने अपने ट्वीट में लिखा, कल तक तुम योगी की जूती उठाते थे आज अखिलेश की चप्पल,अपनी औक़ात मत भूलो, पैदाईशी “ग़द्दार” हो, मुझे लिखने की भी ज़रूरत नहीं है ये जग ज़ाहिर सत्य है. उल्लेखनीय हो कि आईपी सिंह पहले भाजपा में थे, 2019 में लोकसभा टिकट न मिलने के बाद पार्टी के खिलाफ जहर उगलने लगे, उसके बाद भाजपा ने 6 साल के लिए सस्पेंड कर दिया, इसके बाद आईपी सिंह ने सपा का दामन थाम लिया।