कॉंग्रेसी CM भूपेश बघेल ने किया योग, प्रमोद कृष्णम ने योग करने वालों को बताया था ड्रामेबाज

देश-दुनिया में आज सातवाँ ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’ मनाया जा रहा है, इस अवसर पर राष्ट्र को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, योग कोरोनावायरस बीमारी (कोविड -19) के खिलाफ लड़ाई में आशा की किरण के रूप में उभरा है। हालाँकि कुछ लोग ऐसे भी हैं जो योग का विरोध भी करते हैं, इनमें से एक कांग्रेसी बाबा आचार्य प्रमोद कृष्णम भी हैं. प्रमोद ने योग करने वालों को ड्रामेबाज करार देते हुए कहा कि ये सब सिर्फ नौटंकी है..हालाँकि प्रमोद कृष्णम ने भाजपा नेताओं पर तंज कसते हुए यह ट्वीट किया था, लेकिन खुद कांग्रेसी नेता भी योग कर रहे हैं, प्रमोद का ट्वीट इनपर भी लागू हो रहा है. Pramod and bhupesh Baghel


योग का विरोध करते हुए कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने लिखा, सारे “ड्रामेबाज़” ट्रैक सूट पहन कर योग करते हुए फ़ोटो डालेंगे, सारे “भोगी” आज “योगी” बन जायेंगे, अजीब नौटंकी है यार…बता दें कि सार्वजनिक तौर पर कांग्रेस वाले ज्यादा योग में दिलचस्पी नहीं दिखाते, वहीँ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने योग करते हुए कुछ तस्वीरें शेयर कर अपने ट्वीट में लिखा, सभी प्रदेशवासियों को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की शुभकामनाएं। योग स्वस्थ, तनावमुक्त और अनुशासित जीवन जीने की एक शैली है, यह भारत की अमूल्य विद्या है जिसका महत्व आज पूरा विश्व समझ रहा है। कोरोना काल में योग का महत्व रेखांकित हुआ है। करें योग. रहें निरोग….Pramod and bhupesh Baghel

बता दें की कोविड-19 महामारी के कारण लगातार दूसरे वर्ष अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस डिजिटल रूप से मनाया जा रहा है। इस साल की थीम ‘योग फॉर वेलनेस’ है। योग शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों को बढ़ाकर लोगों को अवसाद और चिंता जैसे संकटों से निपटने में मदद कर सकता है।..Pramod and bhupesh Baghel

संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने अपने प्रस्‍ताव 11 दिसंबर 2014 को स्‍वीकार करते हुए 21 जून को अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस घोषित किया। UN में पीएम मोदी ने इसका प्रस्ताव रखा था, वर्ष 2015 से दुनियाभर में स्‍वस्‍थ जीवन के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस एक जन आंदोलन बन गया।