MLA नंदकिशोर गुर्जर ने लिखा पत्र, राहुल गांधी और स्वरा भास्कर पर NSA के तहत मुकदमा दर्ज़ करने,…

गाजियाबाद में मुस्लिम बुजुर्ग की पिटाई का मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है, लोनी विधानसभा क्षेत्र के भाजपा विधायक नंदकिशोर गुर्जर ने थानाध्यक्ष लोनी बॉर्डर, गाज़ियाबाद को पत्र लिखकर सांप्रदायिक दंगा भड़काने की साजिश पर राहुल गांधी, सांसद असदुद्दीन ओवैसी, स्वरा भास्कर पर रासुका के तहत मुकदमा दर्ज़ करने की शिकायत की है। बता दें कि मुस्लिम बुजुर्ग अब्दुल समद ( ghaziabad abdul samad matter ) का वीडियो झूठे दावे के साथ वायरल करने वाले लगभग 9 लोगों के खिलाफ यूपी पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है..कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने भी गाजियाबाद की घटना को ‘जय श्री राम’ एंगल देते हुए ट्वीट किया था, लेकिन एफआईआर में इन दोनों का नाम नहीं है.. ( ghaziabad abdul samad matter )

दरअसल गाजियाबाद में मुस्लिम बुजुर्ग की कुछ लोगों ने दाढ़ी काट दी, उसके बाद साजिश के तहत इसे ‘जय श्री राम से’ जोड़ दिया गया हिन्दुओं को बदनाम करने के लिए, इस मामलें को लेक राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, मैं ये मानने को तैयार नहीं हूँ कि श्रीराम के सच्चे भक्त ऐसा कर सकते हैं। ऐसी क्रूरता मानवता से कोसों दूर है और समाज व धर्म दोनों के लिए शर्मनाक है। कुछ इसी प्रकार का ट्वीट स्वरा भास्कर और ओवैसी ने भी किया। ( ghaziabad abdul samad case )


जबकि पुलिस ने कहा कि आरोपित और पीड़ित पहले से परिचित थे। अब्दुल समद ने ताबीज देकर इसके सकारात्मक परिणाम का आश्वासन दिया था। ताबीज ने काम नहीं किया तो आरोपितों ने उसे पीट दिया। व्यक्तिगत विवाद की इस घटना में आरोपितों में हिन्दू और मुस्लिम, दोनों समुदायों के लोग थे। इसमें साम्प्रदायिक एंगल नहीं था, लेकिन कुछ लोगों ने इसे बनाना चाहा।

अब्दुल समद का वीडियो झूठे दावे के साथ शेयर करने वाले ऑल्ट न्यूज़ के मोहम्मद जुबेर, पत्रकार राणा अयूब, न्यूज़ पोर्टल ‘द वायर’ कांग्रेस नेता सलमान निजामी, मसकूर उस्मानी, डॉ समा मोहम्मद, सबा नकवी और माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर के खिलाफ यूपी पुलिस ने गैर जमानती धाराओं 153/ 153A/ 295A/ 505 / 120B & 34 IPC के अंतर्गत FIR पंजीकृत की है.