शिवसेना नेता ने मुंबई में एक फ्लाईओवर का नाम बदलकर मोइनुद्दीन चिश्ती के नाम पर रखने की मांग की

Photo Credit - India Today

जबसे कांग्रेस और एनसीपी के साथ गठबंधन करके शिवसेना ने महाराष्ट्र में सरकार बनाई है, तबसे शिवसेना नेताओं के सर पर सेकुलरिज्म का भूत सवार हो गया है, जी हाँ! सही सुना आपने, कभी कटटर हिन्दुओं की पार्टी मानी जाने वाली शिवसेना अब मुस्लिमों को खुश करने में जुटी है, इसी कड़ी में शिवसेना सांसद राहुल शेवाले ( Rahul Shewale Moinuddin Chishti) ने मुंबई में एक फ्लाईओवर का नाम बदलकर ख्वाजा गरीब नवाज मोइनुद्दीन चिश्ती के नाम पर रखने की मांग की है, इसके सम्बन्ध में उन्होंने मुंबई के मेयर किशोरी पेडनेकर को एक पत्र लिखा है, इस पत्र को मुंबई के एक डॉक्टर अमित नथानी ने अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है. ( Rahul Shewale Moinuddin Chishti)

मुंबई साउथ सेंट्रल के शिवसेना सांसद राहुल शेवाले द्वारा मेयर को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि ‘चेडानगर को मानखुर्द से जोड़ने वाले फ्लाईओवर का नाम बदलने का अनुरोध मुस्लिम समुदाय से आया है जो उस क्षेत्र में लगबग 70% आबादी मुस्लिमों की है. शिवसेना नेता ने जिस फ्लाईओवर का नाम बदलने की मांग की है वो घाटकोपर-मानखुर्द लिंक रोड पर है. ( Rahul Shewale Moinuddin Chishti)

शिवसेना नेता ने जोर देकर आगे कहा कि मुस्लिम समुदाय की मांग का सम्मान किया जाना चाहिए और जल्द से जल्द फ्लाईओवर का नाम बदला जाना चाहिए। शिवसेना नेता का यह पत्र सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है.

ख़्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की मज़ार राजस्थान के अजमेर शहर में है। ख्वाजा मुइउद्दीन चिश्ती के खंड काल पर दृष्टि डालें और तथ्यों कोदे देखें तो पता चलता है कि चिश्ती सूफी संत थे, जो मुहम्मद गौरी के साथ भारत आये थे,

मुहम्मद गौरी जैसे एक दुर्दांत व्यक्ति के साथ संत माने जाने वाले व्यक्ति का होना कुछ शंकाओं को जन्म देता है. आखिर एक संत (यदिवह संत है ) एक दुर्दांत रक्त पिपासु के साथ लंबी यात्रा कर के लाहौर से अजमेर तक पहुंचे और रास्ते मे हुए कत्ल ए आम से उसका संतत्व उसेजरा भी ना कटोचे, यह कैसे संभव है. मोईनुद्दीन चिस्ती ने हिन्दू राजा पृथ्वीराज चौहान को पकड़ने का श्रेय खुद को देते हुए लिखा था, “हमने पिथौरा (पृथ्वीराज) को जब्त कर लिया है और उसे इस्लाम की सेना को सौंप दिया है।