चित्रा के पति अतुल अग्रवाल के खिलाफ दर्ज हुई FIR, जल्द हो सकती है गिरफ़्तारी, पतंजलि से जुड़ा है मामला

समाचार चैनल ‘हिंदी खबर’ के संपादक और आजतक न्यूज़ चैनल की एंकर चित्रा त्रिपाठी के पति अतुल अग्रवाल की मुश्किलें कम होनें का नाम नहीं ले रही हैं, मिली जानकारी के मुताबिक़, पतंजलि योगपीठ ने हरिद्वार कोर्ट में याचिका दायर करके अतुल अग्रवाल के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने का अनुरोध किया था जिसे कोर्ट नें स्वीकार कर FIR दर्ज करने का आदेश दिया है। अब अतुल के खिलाफ एफआईआर दर्ज भी हो गई है, पतंजलि नें अतुल अग्रवाल पर ब्लैकमेलिंग और विज्ञापन के लिए झूठे आरोप लगाने सहित कई गंभीर आरोप लगाए हैं। (FIR Atul Agarwal Patanjali )

मिली जानकारी के मुताबिक़, पत्रकार अतुल अग्रवाल के खिलाफ पतंजलि से अवैध वसूली और धार्मिक भावनाएं भड़काने के मामले में धारा 153A, 384 IPC के अंतर्गत हरिद्वार में FIR पंजीकृत हो गई है…विज्ञापन न मिलने पर पतंजलि पर आरोप लगा रहे थे, जल्द ही इस मामलें में अतुल अग्रवाल की गिरफ़्तारी भी हो सकती है. (FIR Atul Agarwal Patanjali )

FIR के मुताबिक़, पतंजलि के निदेशक बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण द्वारा विभिन्न न्यूज़ चैनलों व् अख़बारों में विज्ञापन प्रसारित किये जाते हैं ताकि लोग पतंजलि के उत्पादों से परिचित हो सकें। समाचार ‘चैनल हिंदी’ खबर जिसके संपादक अतुल अग्रवाल हैं, को भी पतंजलि द्वारा विज्ञापन दिए गए थे, इसके लिए हिंदी खबर को पतंजलि की ओर से 17,00,000 रूपये से अधिक का भुगतान किया गया था ३०/03/2018 से लेकर 21/042019 तक.


किसी कारणवश पतंजलि ने ‘हिंदी खबर’ को विज्ञापन देना बंद कर दिया, आरोप है कि विज्ञापन बंद होने से चैनल के सम्पादक अतुल अग्रवाल नाराज हो गए, कई बार उन्होंने नाराजगी जाहिर की. आरोप है कि विज्ञापन बंद होने के बाद अतुल अग्रवाल कई बार हरिद्वार में स्थित पतंजलि योगपीठ पर आचार्य बालकृष्ण के कार्यालय में गए और आचार्य से विज्ञापन बंद होने पर आपत्ति जताई तथा भविष्य के लिए विज्ञापन मांगे, विज्ञापन न देने पर बुरे परिणाम भुगतने की धमकी दी थी.

गौरतलब है कि हाल ही में अतुल अग्रवाल ने फेसबुक पोस्ट करके बताया था कि नोएडा एक्सटेंशन में कुछ बदमाशों ने उन्हें रात में घेर लिया, अतुल अग्रवाल ने जो कहानी फेसबुक पर लिखी थी, वह काफी भयावह थी, इसके बाद स्वतः संज्ञान लेते हुए पुलिस जांच में जुट गई है, जाँच में पता चला कि अतुल अग्रवाल को किसी बदमाश वगैरा ने नहीं रुकवाया था बल्कि वह 19 जून की रात महिला मित्र के साथ थे, वो रात में OYO होटल में रुके, पत्नी का फोन आया और निजी कारणों से उन्होंने लूट की झूठी कहानी रची. (FIR Atul Agarwal Patanjali )