दिल्ली बगैर ट्रैक्टर के नहीं मानती है, अब लड़ाई बड़ी होगी: राकेश टिकैत

Rakesh tikait and Tikri
Rakesh tikait and Tikri border

भारतीय किसान यूनियन ( BKU ) के राष्ट्रीय अध्यक्ष Rakesh Tikait ने कहा, दिल्ली बगैर ट्रैक्टर के नहीं मानती है, अब लड़ाई बड़ी होगी। Rakesh Tikait ने कहा, हमारे जिन पदाधिकारियों को पकड़ा हैं उन्हें या तो तिहाड़ जेल भेजो या फिर राज्यपाल से इनकी मुलाकात कराओ। हम आगे बताएंगे कि दिल्ली का क्या इलाज करना है। दिल्ली बगैर ट्रैक्टर के नहीं मानती है। लड़ाई कहां होगी, स्थान और समय क्या होगा यह तय कर बड़ी क्राांति होगी।

किसान नेता Rakesh Tikait ने कहा, संसद तो किसानों का अस्पताल हैं। वहां हमारा इलाज होगा। हमें पता चला हैं कि किसानों का इलाज एम्स से अच्छा तो संसद में होता है। हम अपना इलाज वहां कराएंगे। जब भी दिल्ली जाएंगे हम संसद में जाएंगे। बता दें कि मीडिया में खबर चल रही है कि BKU के किसी सदस्य को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, हालाँकि हम इसकी पुष्टि नहीं करते।

केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली की विभिन्न सीमाओं अपर लगातार सात महीनें से हजारों किसानों का आंदोलन जारी है, इन सात महीनों के अंदर कई घटनाएं घटीं। अब किसान आंदोलन को लेकर एक बड़ी जानकारी निकलकर सामने आ रही है, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) हाईजैक कर सकती है, किसानों के नाम पर एक बार फिर भारी अराजकता का अंदेशा जताया है, ISI की किसी भी साजिश को नाकाम करने के लिए दिल्ली पुलिस और CISF को अलर्ट कर दिया गया है.

देश की सुरक्षा एजेंसियों के अधिकारियों ने पुलिस और केंद्रीय सशस्त्र बलों को एक पत्र भेजा है, जिसमें ISI के संभावित कुकृत्यों की जानकारी दी गई है..जानकारी मिलने के बाद दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है, पुलिस ने कहा कि मेट्रो स्टेशनों के बाहर अतिरिक्त जनशक्ति भी तैनात की जाएगी। आज 26 जून को किसानों का देशव्यापी प्रदर्शन है।