पेड न्‍यूज को ‘चुनाव अपराधों’ की सूची में शामिल किया जाय, चुनाव आयोग ने की सिफारिश!

निर्वाचन आयोग ने स्‍वतंत्र और निष्‍पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के प्रयासों के अंतर्गत पेड न्‍यूज को चुनाव अपराधों की सूची में शामिल करने की सिफारिश की है। आकाशवाणी से विशेष बातचीत में मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त सुशील चंद्रा ने बताया कि आयोग ने इसके लिए विधि मंत्रालय को आवश्‍यक संशोधन करने का सुझाव दिया है। उन्‍होंने कहा कि निर्वाचन आयोग पेड न्‍यूज को लेकर काफी चिंतित हैं।

चंद्रा ने बताया कि देश में प्रवासी श्रमिकों और प्रवासी भारतीयों के लिए रिमोट इलैक्‍ट्रॉनिक वोटिंग की व्‍यवस्‍था जल्‍दी ही एक हकीकत बनने जा रही है। इसका उद्देश्‍य चुनाव प्रक्रिया में अधिकतम मतदाताओं की भागीदारी सुनिश्चित करना है। उन्‍होंने बताया कि रिमोट इलैक्‍ट्रॉनिक वोटिंग से दूर-दराज के स्‍थानों में रहने वाले लोग मतदान केंद्र पर उपस्थित न हो सकने के बावजूद भी मतदान में हिस्‍सा ले सकेंगे और उनका मतदाताओं के रूप में पंजीकरण हो सकेगा। निर्वाचन आयोग ने विधि मंत्रालय से चुनाव प्रक्रिया से जुडे नियमों में कुछ आवश्‍यक संशोधन करने की सिफारिश भी की है।

गौरतलब है की चुनाव के दौरान बड़े मीडिया चैनल, अख़बार व् पत्रिकाएं पार्टी विशेष से पैसा लेकर उनके पक्ष में खबरें चलाकर उनका माहौल बनानें का प्रयास करते हैं.