बाबा रामदेव को टारगेट करने वालों को दिल्ली हाईकोर्ट ने दी कड़ी नसीहत, कहा- ईलाज पर ध्यान दो?

पतंजलि के निदेशक Baba Ramdev को टारगेट करने वालों को दिल्ली हाईकोर्ट ने कड़ी नसीहत देते हुए कहा कि ईलाज पर ध्यान दो? कौन क्या कह रहा है उसपर नहीं। वहीँ बाबा रामदेव को भी नसीहत देते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा, आप कोरोनिल का प्रचार करें पर एलोपैथी को लेकर ऐसे बयान देने से बचें। इसके अलावा अदालत ने रामदेव को समन भी जारी किया है, दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ( DMA ) की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने बाबा को समन जारी किया, एलोपैथी के खिलाफ बाबा रामदेव के आलोचनात्मक बयान को लेकर DMA ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

बाबा रामदेव को नसीहत देते हुए कोर्ट ने कहा, आप कोरोनिल का प्रचार करें पर एलोपैथी को लेकर ऐसे बयान देने से बचें। यही नहीं दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ( DMA ) को भी नसीहत देते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा, आपको लोगों के इलाज पर ध्यान देना चाहिए। कौन क्या कह रहा है उसपर नहीं।

दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन ( DMA ) ने न सिर्फ बाबा रामदेव के आलोचनात्मक बयान को लेकर हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था बल्कि पतंजलि के कोरोनिल किट के बारे में गलत जानकारी फैलाने से रोकने की मांग की गई थी कि यह COVID-19 का इलाज है।

DMA की याचिका पास सुनवाई करते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने Baba Ramdev के वकील से कहा, वह 13 जुलाई को सुनवाई की अगली तारीख तक कोई भड़काऊ बयान न दें और समन का जवाब दें। डीएमए ने अपने डाक्टरों की ओर से कहा है कि रामदेव का बयान प्रभावित करता है क्योंकि वह दवा कोरोनावायरस का इलाज नहीं करती है और यह भ्रामक है।

गौरतलब है कि हाल ही में Baba Ramdev का सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, कथित तौर बाबा रामदेव एलोपैथी के खिलाफ बोल रहे हैं, इस विवाद ने इतना तूल पकड़ा कि IMA ने रामदेव को 1000 करोड़ का मानहानि का नोटिस भेजा है और 15 दिन के अंदर माफ़ी मांगने को कहा है.