सलमान खान, आमिर खान व् अक्षय कुमार समेत कई एक्टरों को क्रिस्टियानो रोनाल्डो से कुछ सीखना चाहिए

पुर्तगाल फुटबॉल टीम के कप्तान और दुनिया के सबसे सर्वश्रेष्ठ फुटबॉलर में से एक क्रिस्टियानो रोनाल्डो ने मात्र 16 सेकेण्ड में कोका कोला को हजारों करोड़ रूपये का चूना लगा दिया है, जिसकी दुनियाभर में चर्चा हो रही है. दरअसल हुआ ये कि रोनाल्डो प्रेस-कॉन्फ्रेंस कर रहे थे, इस दौरान उन्होंने कोका-कोला की ( cristiano ronaldo remove coca-cola ) दो कांच की बोतलें उठाई और कंपनी के नाम को गुनगुनाते हैं हुए साइड में रख दिया, उसके स्थान पर पानी की बोतल को रख दिया। क्रिस्टियानो रोनाल्डों के ऐसा करने के कुछ ही समय बाद जब यूरो 2020 के प्रायोजक ने अपने बाजार मूल्य में 4 बिलियन डॉलर की गिरावट देखी। ( cristiano ronaldo remove coca-cola )

क्रिस्टियानो रोनाल्डो के ऐसा करने के बाद अब सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है कि सलमान खान को उनसे कुछ सीखना चाहिए। लोगों का मानना है कि सॉफ़्ट ड्रिंक्स, सोडा, एल्कोहल सभी हानिकारक हैं। यहाँ तक कि रियल के जूस में भी सिर्फ़ फ़्लेवर्स होते हैं रियल कुछ नहीं होता। यह बात ज़ाहिर है भारतीय सेलेब्स भी जानते हैं और यह भी जानते हैं कि उनके फ़ैंस उनके नाम पर तेज़ाब भी गटक जाएंगे तो क्या उनकी ज़िम्मेदारी और जवाबदेही नहीं बनती? ( cristiano ronaldo remove coca-cola )


भारत में सॉफ्ट ड्रिंक का विज्ञापन करने वालों की भरमार है, कुछ तूफ़ानी करने के लिये, डर को दूर भगाकर आगे जीतने के लिये कोल्ड ड्रिंक्स पीते हैं। आमिर ख़ान ने बहुत पहले ही कह दिया था कि ठण्डा मतलब कोका कोला। अक्षय कुमार ख़ुद बेहतरीन रुटीन फ़ॉलो करते हैं लेकिन एक बोतल थम्स अप के लिये आग के गोले में कूदते हैं, पानी में छलांग लगाते हैं और मगरमच्छ के बगल से उसे उठा लाते हैं, रितिक भी कम नहीं हैं, कम तो ख़ैर कोई नहीं है। सलमान ख़ान को बीइंग ह्युमन भी बनना है और कोल्ड ड्रिंक भी बेचनी है।

इन सभी लोगों से विज्ञापन के इतर बात की जाए तो कोई भी व्यक्ति किसी ड्रिंक को एनडोर्स नहीं करेगा, सब बतायेंगे कि ग़लत है, बुरा है लेकिन इतनी रीढ़ किसी में नहीं कि करोड़ों का प्रोजेक्ट अस्वीकार कर दें। क्रिस्टियानो रोनाल्डो से इन सबको सीख लेनी चाहिए।

क्रिस्टियानो ने जो किया वह बेहद मामूली बात है, लेकिन सार्वजनिक स्थल पर एक महान फ़ुटबॉल खिलाड़ी द्वारा ऐसा किया जाना क़ाबिल-ए-तारीफ़ इसलिए है कि उन्हें पानी पीने को कहने के लिये एक रुपये भी नहीं मिलने थे, कोक की बोतल हाथ में लेकर दो बार घुमा देते तो करोड़ों मिल जाते लेकिन उन्होंने सब दरकिनार किया और सही को चुना।