PM मोदी ने केंद्र के अधीन किया को-टीका प्रोग्राम, केजरीवाल और कांग्रेस सरकारों को लगा बड़ा झटका

प्रधानमंत्री PM मोदी ने आज शाम पांच बजे राष्ट्र को सम्बोधित करते हुए कई बड़े ऐलान किये, सबसे बड़ा ऐलान यह रहा कि 21 जून से सभी को को-टीका फ्री में मिलेगा। पीएम मोदी के इस ऐलान से निश्चित तौर पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और कांग्रेसी राज्य सरकारों को बड़ा झटका लगा होगा। मालूम हो कि पहले राज्य सरकारों के आग्रह पर केंद्र सरकार ने को-टीका प्रोग्राम उन्हें सौंप रखा था, लेकिन वो राज्य के लोगों को को-टीका उपलब्ध कराने के बजाय इसके जरिये मोटी दलाली खाने में जुटे थे, जिसके बाद केंद्र ने को-टीका प्रोग्राम फिर से अपने हाथ मे ले लिया, अब पूरे देश के लोगों को को-टीका फ्री में मिलेगा।

गौरतलब है कि कई राज्यों से को-टीका प्रोग्राम में लूट मचाई गई, व् बर्बादी हुई, पंजाब की कांग्रेस सरकार 400 की वैक्सीन लेकर निजी अस्पतालों को 1 हजार रूपये से अधिक दामों में बेंच रही थी, राजस्थान में 25 सौ से ज्यादा डोज डस्टबिन में मिली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जितना वैक्सीन पर नहीं खर्च करते थे उससे ज्यादा विज्ञापन में उड़ा देते थे. शायद इसीलिए मोदी सरकार ने को-टीका प्रोग्राम अपने कब्जे में ले लिया।

राष्ट्र को सम्बोधित करते हुए PM मोदी ने कहा, 21 जून, सोमवार से देश के हर राज्य में, 18 वर्ष से ऊपर की उम्र के सभी नागरिकों के लिए, भारत सरकार राज्यों को मुफ्त को-टीका मुहैया कराएगी। को-टीका निर्माताओं से कुल को-टीका उत्पादन का 75 प्रतिशत हिस्सा भारत सरकार खुद ही खरीदकर राज्य सरकारों को मुफ्त देगी।

PM मोदी ने कहा, देश की किसी भी राज्य सरकार को वैक्सीन पर कुछ भी खर्च नहीं करना होगा। अब तक देश के करोड़ों लोगों को मुफ्त को-टीका मिली है। अब 18 वर्ष की आयु के लोग भी इसमें जुड़ जाएंगे। सभी देशवासियों के लिए भारत सरकार ही मुफ्त को-टीका उपलब्ध करवाएगी। देश में बन रही वैक्सीन में से 25 प्रतिशत, प्राइवेट सेक्टर के अस्पताल सीधे ले पाएं, ये व्यवस्था जारी रहेगी। प्राइवेट अस्पताल, वैक्सीन की निर्धारित कीमत के उपरांत एक डोज पर अधिकतम 150 रुपए ही सर्विस चार्ज ले सकेंगे। इसकी निगरानी करने का काम राज्य सरकारों के ही पास रहेगा।