बीजेपी में दाग धुलवाकर वापस TMC में भाग गए मुकुल रॉय

बंगाल के भाजपा नेता मुकुल रॉय ने घर वापसी कर ली है, आज मुकुल रॉय तृणमूल कांग्रेस ( टीएमसी ) में शामिल हो ( mukul roy join tmc ) गए, कभी टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के करीबी रहे मुकुल रॉय 2017 में धूमधाम से भाजपा में शामिल हुए थे, अब अपने बेटे सुभ्रांशु रॉय के साथ तृणमूल कांग्रेस में वापसी कर गए, टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी की अगुवाई में मुकुल रॉय ने अपने बेटे के साथ टीएमसी का दामन ( mukul roy join tmc ) थामा। ममता के भतीजे व् टीएमसी विधायक अभिषेक बनर्जी ने मुकुल रॉय और उनके बेटे सुभ्रांशु रॉय को शाल पहनाकर पार्टी में स्वागत किया। रॉय ने कहा, “मैं फिर से भारतीय जनता पार्टी के लिए काम नहीं करूंगा।

जानकारी के अनुसार, कथित तौर पर मुकुल रॉय शारदा चिटफंड और नारदा घूसकांड में आरोपी थे, समय की नजाकत को भांपते हुए मुकुल रॉय केंद्र की सत्ता में विराजमान भाजपा में चले आये और धीरे-धीरे खुद को सभी मामलों से मुक्त कर पाक साफ़ बन गए, भाजपा ने मुकुल रॉय को पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया। अभी भी भाजपा विधायक हैं, काम बनते ही मुकुल रॉय फिर टीएमसी में भाग गए. ( mukul roy join tmc )

अप्रैल 2013 में शारदा समूह के चिटपंड घोटाले का खुलासा हुआ था. इस घोटाले में मुकुल रॉय का भी नाम सामने आया था, उन्हें पूछताछ के लिए सीबीआई के सामने पेश होना पड़ा. बाद में TMC के नेता और एक जमाने में ममता बनर्जी दाहिने हाथ कहे जाने वाले मुकुल रॉय ने बीजेपी का दामन थाम लिया.

मुकुल रॉय की टीएमसी में वापसी के बाद बनर्जी ने कहा कि भाजपा ने मुकुल रॉय को डराकर पार्टी में शामिल कराया। उन्होंने कहा, “मुकुल घर लौट आया है। वह भाजपा में शामिल होने से डर रहा था। मुझे भी लगा कि उसकी तबीयत बिगड़ रही है और अब वह तृणमूल कांग्रेस में लौटने के बाद मानसिक रूप से सही है. मुकुल रॉय उन नेताओं में से थे जिन्होंने टीएमसी की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

भाजपा के बंगाल अध्यक्ष दिलीप घोष ने मुकुल रॉय की टीएमसी में वापसी पर कहा, “जिनके पास भाजपा के विकास में योगदान करने के लिए कुछ भी नहीं है, वे छोड़ने के लिए स्वतंत्र हैं।”