सपाइयों पर फूटा अखिलेश यादव का गुस्सा, 11 जिलाध्यक्षों को पार्टी से किया बर्खास्त

6 महीनें बाद उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं, उससे पहले समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव का पार्टी पर गुस्सा फूटा है, अखिलेश ने तत्काल प्रभाव से 11 जिलों के जिलाध्यक्षों को पार्टी से बर्खास्त कर दिया। समाजवादी पार्टी ने पंचायत चुनाव में पार्टी विरोधी गतिविधियों को लेकर 11 जिलाध्यक्षों को हटाया। गोरखपुर, मुरादाबाद, झांसी, आगरा, गौतमबुध नगर ,मऊ ,बलरामपुर, श्रावस्ती ,भदोही, गोंडा ,ललितपुर के जिलाध्यक्ष हटाए गए।

उत्तर प्रदेश में इस समय ‘जिला पंचायत अध्यक्ष’ पद का चुनाव चल रहा है और इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) पूरे जोश के साथ मैदान में हैं। राज्य की लगभग सभी सीटों पर बीजेपी और सपा ने अपने उम्मीदवार उतारे हैं और दोनों पार्टियों के उम्मीदवार भी अपनी जीत का दावा कर रहे हैं.

जिन जिले के जिलाध्यक्षों को समाजवादी पार्टी ने हटाया है, यहाँ से भाजपा प्रत्याशी निर्विरोधी जिलाध्यक्ष चुन लिए गए हैं. सपा जिलाध्यक्षों पर भाजपा प्रत्याशियों को समर्थन करने का आरोप है.