CBSE के बाद इस BJP शासित राज्य में रद्द हुई 12वीं की परीक्षा, CM बोले- बच्चों पर मानसिक बोझ उचित नहीं

कक्षा 12 की परीक्षा रद्द

कोरोना वायरस के कहर के चलते सीबीएसई बोर्ड बारहवीं की परीक्षा रद्द कर दी गई, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई एक उच्च बैठक में पीएम मोदी ने बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए बारहवीं की परीक्षा को रद्द करने का फैसला लिया, जबकि दसवीं सीबीएसई बोर्ड दसवीं की परीक्षा पहले ही रद्द की जा चुकी है, सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा रद्द होने के बाद अब मध्यप्रदेश में भी कक्षा 12 की परीक्षा रद्द कर दी गई है.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, मध्य प्रदेश में कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाएं इस बार आयोजित नहीं की जाएंगी। बच्चों की जिन्दगी हमारे लिए अनमोल है। जब पूरा देश और राज्य कोरोना को प्रकोप झेल रहा है ऐसे में बच्चों पर परीक्षा का मानसिक बोझ उचित नहीं है. कोरोनावायरस की दूसरी लहर में कोरोना की मामलों की बढ़ोतरी को देखते हुए परीक्षा को स्थगित करने का निर्णय लिया गया है. हालाँकि मध्यप्रदेश बोर्ड ने अभी तक कक्षा 12 ki रद्द की गई परीक्षाओं के मूल्यांकन मानदंड पर निर्णय की घोषणा नहीं की है।

एमपी बोर्ड ने पहले ही कक्षा 10 की परीक्षा रद्द कर दी है। कक्षा 10 के छात्रों को अगली उच्च कक्षा में पदोन्नत करने के मानदंड भी घोषित किए गए हैं। बोर्ड परिणाम तैयार करने के लिए शैक्षणिक वर्ष के दौरान आयोजित अर्धवार्षिक, प्री-बोर्ड, परीक्षा, यूनिट टेस्ट और आंतरिक मूल्यांकन में छात्रों के प्रदर्शन पर विचार करेगा।

कक्षा 12 की परीक्षा रद्द

दैनिक जागरण में छपी खबर के मुताबिक, उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) की इंटरमीडिएट परीक्षा भी रद होने के पूरे आसार हैं। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जल्द ही बैठक करेंगे और निर्णय लेंगे। यूपी बोर्ड दसवीं की परीक्षा पहले ही रद्द की जा चुकी है, सीबीएसई बोर्ड बारहवीं की परीक्षा रद्द होने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी छात्रों व अभिभावकों की ओर से प्रधानमंत्री को आभार व्यक्त किया।