हिन्दू विरोधी कमल हासन की करारी हार, वनाथी श्रीनिवासन ने हासन को धूल चटाकर खिलाया कमल

हिन्दू धर्म से नफरत करने वाले अराजकता मानसिकता से ग्रस्त कमल हासन की करारी हुई है, भाजपा उम्मीदवार टीएन वनाथी श्रीनिवासन ने तमिलनाडु में कमल खिला दिया। साऊथ सुपरस्टार से मक्कल निधि मय्यम (MNM) पार्टी के अध्यक्ष बने कमल हासन तमिलनाडु की कोयंबटूर साउथ सीट से चुनावी मैदान में थे लेकिन यहाँ उन्हें भाजपा उम्मीदवार टीएन वनाथी श्रीनिवासन से लगभग 1500 वोटों से हार का सामना करना पड़ा. श्रीनिवासन को 52,627 वोट मिले हैं जबकि कमल हासन को 51087 वोट मिले हैं। बताया जा रहा है कि हार के बाद कमल हासन सदमें में आ गया है. 2019 लोकसभा चुनाव में भी कमल हासन करारी हार हारा था.

कमल हासन को धूल चटाकर दक्षिण भारत का मैनचेस्टर कहे जाने वाले कोयम्बटूर में कमल खिलाने वाली टीएन वनाथी श्रीनिवासन भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय अध्यक्षा हैं, श्रीनिवासन तमिलनाडु में जमीनी कार्यकर्ता हैं। श्रीनिवासन के बारे में कहा जाता है कि वे बेहद विनम्र हैं और मृदुभाषी हैं कार्यकर्ताओं से सीधा कनेक्ट करने में उनको महारथ हासिल है। इसी वजह से कोयंबटूर सीट पर लंबे समय से काम कर रही बनाती श्रीनिवासन ने इतने बड़े सुपरस्टार कमल हासन को हरा दिया। टीएन वनाथी श्रीनिवासन श्रीनिवासन काफी लंबे समय से आर एस एस की महिला विंग की सदस्य भी रही है राजनीति में होने के साथ-साथ वे पेशे से वकील भी हैं।

कमल हासन एक नंबर का हिन्दू विरोधी है, एक बार तो कमल हासन ने कहा था कि ‘हिंदू’ शब्द का उल्लेख किसी भी प्राचीन ग्रंथ में नहीं मिलता है और विदेशी आक्रमणकारियों ने यह शब्द दिया है। इससे पहले कमल हासन ने इससे पहले एक विवादास्पद बयान देते हुए कहा था कि आज़ाद भारत का पहला आतंकवादी हिन्दू था। हिंदी का विरोध करते हुए एक बार कमल हासन ने कहा था, हिन्दी को किसी पर थोपा नहीं जाना चाहिए। हम इसको बिल्कुल बर्दास्त नहीं करेंगें। बेहूदा बयान के चलते एक बार कमल हासन को भरी सभा में एक बार चप्पल भी पड़ी थी।