चिकित्सा उपकरणों की कालाबाजारी करने वाले 146 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है UP पुलिस, ADG ने दिया पूरा ब्यौरा

देशभर में कोरोना वायरस एक बार फिर कहर बरपाने लगा है, कोरोना काल में रेमडेसिविर इंजेक्शन व् अन्य चिकित्सा उपकरणों की जबरदस्त मांग बढ़ गई है, कुछ लोग विपदा में चिकित्सा उपकरणों की कालाबाजारी कर मोटा पैसा कमानें में जुटे हैं, ऐसे मानवता के दुश्मनों के खिलाफ यूपी पुलिस ताबड़तोड़ कार्यवाही कर रही है, अबतक यूपी पुलिस 146 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है, ADG प्रशांत कुमार ने आज पूरा ब्योरा दिया।

ADG (कानून व्यवस्था), उत्तर प्रदेश प्रशांत कुमार ने बताया कि ‘जीवन रक्षक औषधियों तथा चिकित्सा उपकरणों की कालाबाजारी के खिलाफ कार्रवाई में अब तक 146 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है। 1253 इंजेक्शन, 1337 ऑक्सीजन सिलेंडर, 18 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, 844 ऑक्सीमीटर और 62,33,790 रुपये बरामद किए गए हैं.

उन्होंने बताया कि अब तक 2,365 बेड का इंतजाम पुलिस ने अपने संसाधनों द्वारा पुलिस लाइनों में किया है। इनमें 260 बेड ऑक्सीजन सुविधायुक्त हैं। इन अस्पतालों में कुल 1891 पॉजिटिव पुलिसकर्मियों का इलाज चल रहा है और 854 डिस्चार्ज हो चुके हैं, भर्ती पुलिसकर्मियों में 15 ऐसे रहे हैं जो बीमीरी बढ़ने पर बड़े अस्पतालों में रेफर किए गए हैं। GRP के एक कोविड केयर सेंटर में भर्ती पुलिसकर्मी की मौत भी हुई है। प्रदेश में 4,256 पुलिसकर्मी कोरोना पॉजिटिव हैं। अब तक कुल 15,409 पुलिसकर्मी ठीक होकर घर जा चुके हैं.

उत्तर प्रदेश अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने बताया कि ‘हर ग्राम में CHC में 20 ऑक्सीजन बेड सृजित करने का अभियान चलाया गया है। 45,00 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर जिलों में भेज दिए गए हैं। 17,000 से ज्यादा ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खरीदने का टेंडर फाइनल कर लिया गया है. यूपी में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 20,463 नए मामले सामने आए और 29,358 लोग डिस्चार्ज हुए। सक्रिय मामलों की संख्या 2,16,057 है, कल प्रदेश में 2,33,705 सैंपल्स की जांच की गई, अब तक प्रदेश में कुल 4,34,04,184 सैंपल्स की जांच की गई है.