बंगाल में सीमा रक्षक भी नहीं सुरक्षित, TMC के गुंडों ने BSF जवानों के घरों पर किये हमले, मारपीट और आगजनी

File Pic

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं, ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी ने एक बार फिर से बंगाल में भारी बहुमत के साथ सरकार बना ली है, सरकार बनते ही गुंडों ने आतंक मचाना शुरू कर दिया है, इस बीच एक हैरान कर देने वाली खबर सामने आ रही है, जिससे बंगाल की भयावह स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है, वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश सिंह ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि बंगाल में दो अलग-अलग जगहों पर बीएसएफ जवानों के घरों पर हमले, मारपीट और आगजनी हुई है.

वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा, सीमा रक्षकों के घरों पर भी हमले हो रहे हैं अब पश्चिम बंगाल में। सूत्रों के मुताबिक़, ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने दो अलग-अलग जगहों पर BSF के जवानों के घरों पर हमले किये हैं। तोड़फोड़, आगज़नी, मारपीट की गई है। शर्मनाक है, जवानों या उनके घरवालों पर ये हमला।

पहला मामला जलपाईगुड़ी ज़िले के रानीरहाट इलाक़े का है, जहां छुट्टी पर आए बीएसएफ़ के जवान कमल सेन के घर पर टीएमसी से जुड़े गुंडों ने हमला बोला, कमल और परिवार वालों के साथ मारपीट कर उन्हें घायल किया और घर, ट्रैक्टर और बाइक में आग लगा दी। घायल जवान सिलिगुड़ी के अस्पताल में भर्ती है। दूसरी घटना कूचबिहार की है, जहां सुशांत बर्मन नामक बीएसएफ जवान के घर पर हमला किया गया है और लूट मचाई गई है। इस वजह से इस जवान के परिवार के सदस्य घर छोड़कर भागे हुए हैं, उनकी जान को ख़तरा है। जवान का भाई बीजेपी समर्थक है, इसलिए ये हमला किया गया। इस मामले में शिकायत भी दर्ज हुई है।

बीएसएफ़ के उच्चाधिकारियों ने दोनों ही मामलों में स्थानीय प्रशासन और पुलिस से कड़ी कार्रवाई करने का अनुरोध किया है। देखना ये होगा कि ममता बनर्जी के बंगाल में खुद सीमा रक्षकों के परिवारों को न्याय मिलेगा या नहीं, वो भी अगर हमले करने वाले उनकी खुद की पार्टी TMC के कार्यकर्ता हों।