संकटकाल में भी नहीं सुधरी राहुल गांधी की रेटिंग, मोदी पर राहुल से तिगुनें लोगों का भरोसा: सर्वे

कोरोना संकट काल में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ट्विटर पर काफी ज्यादा सक्रिय हैं और ट्विटर के जरिये ही मोदी सरकार पर जमकर हमला बोल रह हैं, लेकिन इस संकटकाल में भी राहुल गाँधी की रेटिंग नहीं सुधरी है, यानि लोगों पर भरोसा राहुल गांधी पर नहीं है, इसका खुलासा हुआ है एक ताजा सर्वे में, जी हाँ! C-वोटर और एबीपी न्यूज़ के सर्वे में सामने आया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राहुल गांधी से से तिगुनें लोगों का भरोसा है।

दरअसल C-वोटर और एबीपी न्यूज़ ने एक सर्वे किया, इस सर्वे में शहरी और ग्रामीण इलाके के लोगों से कुछ सवाल पूछे गए, जैसे- कोरोना संकट को बेहतर कौन सम्भालता, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर 66 फीसदी शहरी और 62 फीसदी ग्रामीणों ने भरोसा जताया तो वहीँ कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और विपक्ष की ओर से स्वघोषित प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार राहुल गांधी पर सिर्फ 20 फीसदी शहरी और 23 फीसदी ग्रामीणों ने भरोसा जताया। 14 फीसदी शहरी और 15 फीसदी ग्रामीण ऐसे रहे, जिन्हें किसी पर भरोसा नहीं यानि वो कह नहीं सकते वाली सूची में थे।

राहुल गांधी जिस तरीके से मोदी सरकार पर हमलावर हैं, उस हिसाब से देखा जाय तो सर्वे का आंकड़े बिल्कुल भी राहुल गाँधी के पक्ष में नहीं है, सर्वे के मुताबिक, दूसरी लहर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनाव प्रचार से लोग नाराज हैं, लेकिन इस संकटकाल में उन्होंने जिस तरह से देश की नेतृत्व किया, उससे लोग काफी हद तक खुश हैं. इस सर्वे से साफ़ हो गया कि आज भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से ज्यादा भरोसेमंद कोई रजनीतिक चेहरा नहीं है।